North Korea: तानाशाह किम जोंग ने फिर दी परमाणु हमले की धमकी, अमेरिका और उसके मित्र देशों को दी यह चेतावनी

मिसाइल की लॉन्चिंग के मौके पर किम ने बयान दिया - "अमेरिका और उसके साथी देश उकसावे की रणनीति के तहत काम कर रहे है। इस कारण से नार्थ कोरिया ने अपनी तैयारियों को तेज़ी दी है।

Photo of author

Reported by Sheetal

Published on

अमेरिका और उसके सहयोगी देशों को उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग ने परमाणु बम से हमला करने की चेतावनी दी है। शनिवार के दिन किम ने अपने देश में हो रहे मिसाइल टेस्ट के बाद यह बयान दिया है। उनके अनुसार खतरा होने पर परमाणु हथियारों से उत्तर दिया जायेगा। किंम (kim jong) ने लगातार मिलने वाली धमकियों का जवाब परमाणु बम से देने की बात कही है। टेस्ट के बाद किम ने अमेरिका समेत सभी पश्चिमी देशों को सीधी धमकी तक दी है।

इससे एक दिन पूर्व ही नार्थ कोरिया इण्टर कॉन्टिनेंटल बैलेस्टिक मिसाइल (ICBM) को समुद्र की ओर फायर किया था। इस मिसाइल पर नार्थ कोरिया की आर्मी ने कहा था कि इस मिसाइल को अमेरिकी दबाव की रणनीति एवं नार्थ कोरिया के साथ जापान के रवैये के प्रतिउत्तर में देगा गया है। मिसाइल के दागने पर किम जोंग की बेटी एवं पत्नी भी मौजूद रही।

Table of Contents

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

मिसाइल कार्यक्रम की वजह अमेरिका

मिसाइल की लॉन्चिंग के मौके पर किम ने बयान दिया – “अमेरिका और उसके साथी देश उकसावे की रणनीति के तहत काम कर रहे है। इस कारण से नार्थ कोरिया ने अपनी तैयारियों को तेज़ी दी है।” आगे किम ने कहा यदि उत्तर कोरिया पर कोई एटमी अटैक होता है तो इसका उत्तर भी परमाणु हथियार से दिया जायेगा। नार्थ कोरिया की न्यूज़ एजेन्सी योनहाप ने बताया है कि उत्तर कोरिया ने अपने मिसाइल टेस्ट में ह्वासोंग-17 ICBM को भी शामिल किया है। 3 नवंबर के दिन ये मिसाइल अन्तरमहाद्विपीय मिसाइल टेस्ट में विफल हो गयी थी।

ह्वासोंग-17 पहुँच अमेरिका तक

KCNA ने बताया कि ह्वासोंग-17 ICBM के टेस्ट की पुष्टि हो चुकी है। इस परिक्षण को सर्वोच्च प्राथमिकता की डिफेन्स तैयारियों के अंतर्गत किया गया था। उत्तर कोरिया का कहना है कि इसका लक्ष्य सर्वाधिक ताकतवर एवं सम्पूर्ण परमाणु प्रतिरोध को तैयार करना है। एजेसी के दावे के अनुसार ये मिसाइल विश्व की सर्वाधिक शक्तिशाली सामरिक हथियार है। इस मिसाइल ने लगभग 69 मिनट में 1 हजार किमी का सफर तय किया और 6,041 किमी की ऊँचाई तक पहुँची है। इसे अपने आकार की वजह से “राक्षस मिसाइल” नाम दिया गया है। जेरुशलम रिपोर्ट ने इस बात की पुष्टि की है कि ये मिसाइल कई हथियारों को लेकर जाने की क्षमता रखती है।

परीक्षण के बाद बेटी के साथ दिखें

अमेरिका से मिली बहुत सी चेतावनियों के बाद भी कोरियन द्वीप में बैलेस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया गया। इस परीक्षण के बाद तानाशाह किम जोंग ने अपनी निजी जीवन से जुडी एक चौकाने वाले बात भी सार्वजानिक की। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार मिसाइल के परीक्षण हो जाने के बाद किम ने एक फोटो को शेयर किया, इस फोटो में वे सफ़ेद कोट पहनकर एक लड़की का हाथ थामे खड़े है। ये लड़की कोई अनजान नहीं है बल्कि ये उनकी बेटी है। इस तरह से उन्होंने पहली बार अपनी बेटी को लोगों के सामने अपने साथ मौजूद किया।

संबंधित खबर Sign Out of Your Google Account : फोन खो गया सभी डिवाइस से जीमेल लॉगआउट कैसे करें एक ही बार में? जानें

Sign Out of Your Google Account : फोन खो गया सभी डिवाइस से जीमेल लॉगआउट कैसे करें एक ही बार में? जानें

यह भी पढ़ें :- मालदीव समेत ये 5 देश समुद्र में डूब जाएंगे? जानें कौन कौन से हैं ये देश, क्या होगा फिर

अब पूरी तरह से सेफ है किम

अमेरिका ने मौजूद स्टिम्सन सेन्टर में उत्तर कोरिया के नेतृत्व स्पेसलिस्ट माइकल मैडेन ने कहा है कि पहला अवसर है जब हम किम जोंग को उनकी बेटी के साथ पब्लिक प्रोग्राम में देख रहे है। कुछ जानकारो का दावा है कि किम की तीन संताने है जिनमे से दो लड़कियाँ और एक लड़का है। इस प्रकार से सार्वजानिक कार्यक्रम ने बेटी के साथ होने पर एक महत्वपूर्ण बात का पता चलता है कि अब किम जोन को किसी बात का डर नहीं है वो अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतामुक्त है।

साल 2013 में रिटायर हुए बास्केटबॉल खिलाडी डेनिस रोडमैन का कहना है कि किम की बेटी का नाम जू ऐ है और उन्होंने अपनी यात्रा के बाद अखबार द गार्जियन को बताया कि वे किम और उनके परिवार के साथ समय बिताया है और इनके बच्चे को गोदी में लिया है।

संबंधित खबर WHO Report 43% increase in cases of death due to this disease after 2021-22, WHO revealed in the report

WHO Report: इस बीमारी से मौत के मामलों में 2021-22 के बाद 43% बढ़ोतरी, WHO ने किया रिपोर्ट में किया खुलासा, जाने वजह

Leave a Comment

WhatsApp Subscribe Button व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp