Planets Name in Hindi-English: क्या आप सभी ग्रहों के नाम हिंदी और अंग्रेजी में जानते हैं, यहां देखें

खगोलीय पिंड ग्रह उसे कहते है सूरज या फिर किसी तारे के चारों ओर चक्कर लगाते है। मान लीजिये जिस तरह से सूर्य को एक तारा कहा जाता है और इसके जो चारों और परिक्रमा लगाते है उनको खगोलीय पिंड कहा जाता है।

Photo of author

Reported by Sheetal

Published on

दोस्तों आपने ग्रहों के बारे में तो कभी ना कभी जरूर सुना होगा या फिर इनके बारे में जानते भी होंगे। जिस तरह से पृथ्वी में कई प्रकार के ग्रह होते है वैसे ही पृथ्वी की तरह एक ब्रह्माण्ड है जिसमे बहुत प्रकार के ग्रह, खगोलीय पिंड पाए जाते है। कई लोगों को ग्रहों के नाम तो पता होते है पर उन्हें Hindi-English में क्या कहते है यह नहीं पता होता है? चिंता मत करिए आज हम आपको इस आर्टिकल में सभी ग्रहों के नाम हिंदी और अंग्रेजी में बताने जा रहे है सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए आर्टिकल में अंत तक अवश्य बने रहे।

Planets Name in Hindi-English

नीचे टेबल में प्लैनेट्स के नाम हिंदी इंग्लिश में दिए हुए आप ध्यानपूर्वक पढ़ सकते है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
नम्बरग्रहों के नाम इंग्लिश मेंग्रहों के नाम हिंदी में
1. Mercury (मरकरी)बुध (Budh)
2. Venus (वेनस)शुक्र (Shukra)
3.Earth (अर्थ)पृथ्वी (Prithvi)
4.Mars (मार्स)मंगल (Mangal)
5.Jupiter (जूपिटर)बृहस्पति (Brhaspati)
6.Saturn (सैटर्न)शनि (Shani)
7.Uranus (यूरेनस)अरुण (Arun)
8.Neptune (नेपच्यून)वरुण (Varun)

ग्रह क्या है?

खगोलीय पिंड ग्रह उसे कहते है सूरज या फिर किसी तारे के चारों ओर चक्कर लगाते है। मान लीजिये जिस तरह से सूर्य को एक तारा कहा जाता है और इसके जो चारों और परिक्रमा लगाते है उनको खगोलीय पिंड कहा जाता है। आपको बता दे ग्रह कई प्रकार के होते है। इनके सूर्य या फिर तारे की निश्चित कक्षा की दूरी पर चक्कर लगाने का कारण गुरुत्वाकर्षण बल होता है जिसके तहत ये सदैव सूर्य की प्रक्रिमा करते है यदि गुरुत्वाकर्षण बल नहीं होगा तो ये अलग दिशा में चले जाएंगे।

कई ग्रह अधिक प्रक्रिमा करते है इन ग्रहों को घुम्मकड़ ग्रह भी कहते है। ग्रह को प्लैनेट्स भी कहते है planet एक लैटिन भाषा का शब्द है जिसे कार्य सिर्फ घूमना रहता है।

संबंधित खबर मूनलाइटिंग क्या है और क्यों इसके कारण सता रहा कर्मचारियों को नौकरी से हाथ धोने का डर

मूनलाइटिंग क्या है और क्यों इसके कारण सता रहा कर्मचारियों को नौकरी से हाथ धोने का डर

यह भी देखें :- एनसीसी (NCC) का इतिहास और NCC Full Form क्या जानते हैं आप ?

सौर मंडल क्या है?

आकाशगंगा में सूर्य तथा उसके चारों और प्रक्रिमा करने वाले ग्रहों को सौर मंडल कहते है। यह सभी एक दूसरे के किनारे गुरुत्वाकर्षण बल के कारण चक्कर लगाते रहते है। आसान भाषा में कहे सूर्य के चारों और पाए जाने ग्रह, क्षुद्र ग्रहों, सभी प्रकार के आकाशीय पिंड तथा धूमकेतुओं को मिलाकर सौर मंडल बनता है। आकाश में किसी भी तारे के चारों और घूमने वाले खगोलीय पिंड ग्रह कहलाते है। सौर मंडल का सबसे बड़ा तारा घुमकेतु खगोलीय धूल तथा बोन ग्रह है इनके चारों और भी कई प्रकार के ग्रह पिंड परिक्रमा करते है।

सूर्य तथा जितने भी तरह के खगोलीय पिंड है वे आपस में मिलकर सौर मंडल बनाते है। अब आपको बता दे जिनसे मिलकर ग्रह मंडल बनता है उनको खगोलीय पिंड कहा जाता है। इन सब का निर्माण प्राकृतिक रूप से ब्रह्माण्ड में हुआ है।

संबंधित खबर नवोदय विद्यालय में एडमिशन के लिए क्या डॉक्यूमेंट चाहिए, देखें लिस्ट

नवोदय विद्यालय में एडमिशन के लिए क्या डॉक्यूमेंट चाहिए, देखें लिस्ट

Leave a Comment

WhatsApp Subscribe Button व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp