Indian Railways: आखिर क्यों रेलवे स्टेशन के नाम लिखे होते हैं पीले बोर्ड पर काले रंग से, बेहद रोचक है इसके पीछे की वजह

अकसर हम इसे देखते हैं लेकिन इस पर ध्यान नहीं देते, अगर आप इसका जवाब नहीं जानते तो चलिए हम आपको इस सवाल के पीछे की वजह यहाँ विस्तार से बताते हैं।

Photo of author

Reported by Shivam Nanda

Updated on

Indian Railways Why are the names of railway stations written in black on the yellow boards, the reason behind this is very interesting

Indian Railways: भारतीय रेलवे जो दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क है, इसे देश की लाइफलाइन भी कहा जाता है। ट्रैन में रोजाना हर वर्ग के लोग सफर करते हैं, आपने भी कभी न कभी ट्रैन में सफर तो जरूर किया ही होगा।

ऐसे में ट्रैन में सफर के लिए जाने के दौरान रेलवे स्टेशन में इंतजार करते समय आपने एक चीज पर कभी न कभी तो गौर किया होगा, की रेलवे स्टेशन का नाम हमेशा पीले रंग के बोर्ड पर ही लिखा होता है, लेकिन क्या आपने कभी सोचा हैं की देश में मौजूद सभी रेलवे स्टेशनों में स्टेशन का नाम हमेशा पीले रंग के साइन बोर्ड पर काले रंग से ही क्यों लिखा होता है ?

अकसर हम इसे देखते हैं लेकिन इस पर ध्यान नहीं देते, अगर आप इसका जवाब नहीं जानते तो चलिए हम आपको इस सवाल के पीछे की वजह यहाँ विस्तार से बताते हैं।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

Heart Health: दिल की नस ब्लॉक होने पर दिख सकते हैं ये लक्षण, बिलकुल भी न करें अनदेखा

इसलिए स्टेशन में लगाए जाते हैं पीले बोर्ड

रेलवे स्टेशन में पीले रंग के साइन बोर्ड इसलिए लगाए जाते हैं क्योंकि पीला रंग मुख्य रूप से सूर्य की चमकदार रोशनी पर आधारित है। यह रंग ऊर्जा का प्रतीक है और यह मन पर बहुत पॉजिटिव असर डालता है। भीड़भाड़ वाले इलाकों में पीले रंग का बैकग्राउंड बाकी रंगों के मुकाबले काफी बेहतर काम करता है।

पीले रंग को सूरज के सामने प्रभावशाली माना जाता है, ये दिन और रात दोनों समय ही स्पष्ट दिखाई देता है, जिससे रेलवे स्टेशन पर लगे बोर्ड ट्रैन ड्राइवर को भी सतर्क करने का काम करते हैं और इससे दूर से भी देखा जा सकता है।

पीले बोर्ड पर काला रंग होता है अंकित

पीले साइन बोर्ड पर काले रंग की लिखाई इसलिए की जाती है क्योंकि यह अधिक प्रभावशाली होती है, जिसे दूरी से ही साफ तौर पर देखा जा सकता है, इससे ट्रैन ड्राइवर को स्टेशन का नाम जानने में आसानी होती है।

इसके अलावा सड़कों पर लगे साइनबोर्ड पर भी पीले रंग के बैकग्राउंड बने होते है, जिनमें काले रंग से लिखा होता है। रेलवे स्टेशन में ऐसा इसलिए किया जाता है ताकि पीले बोर्ड ट्रैन ड्राइवर को सतर्क कर सकें और अनहोनी होने से रोकी जा सके।

जैसा की अकसर देखा जाता है की कई ट्रेनें नॉन-स्टॉप होती है और वह हर एक स्टेशन पर नहीं रुकती, हालांकि वहां लगा पीला बोर्ड ड्राइवर को चौकन्ना रहने के लिए तैयार रखते हैं।

पीले रंग से ड्राइवर को पता होता है की आगे स्टेशन है, इसलिए कोई अनहोनी न हो इसके लिए वे उस समय ज्यादा ध्यान देते हैं, ऐसे में यह बोर्ड किसी भी अनहोनी से बचाने में अहम भूमिका निभाते हैं।

Leave a Comment

WhatsApp Subscribe Button व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp