Strongest Currency List: विश्व की 10 सबसे मजबूत करेंसी, क्या आप जानते हैं?

करेंसी किसी भी देश के लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यह व्यापार और विनिमय के लिए एक सामान्य माध्यम प्रदान करती है। यह लोगों को एक दूसरे के साथ सामान और सेवाओं का आदान-प्रदान करने की अनुमति देता है, भले ही वे अलग-अलग देशों से हों। आज हम आपको इस लेख में दुनिया का 10 सबसे ... Read more

Photo of author

Reported by Sheetal

Published on

करेंसी किसी भी देश के लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यह व्यापार और विनिमय के लिए एक सामान्य माध्यम प्रदान करती है। यह लोगों को एक दूसरे के साथ सामान और सेवाओं का आदान-प्रदान करने की अनुमति देता है, भले ही वे अलग-अलग देशों से हों। आज हम आपको इस लेख में दुनिया का 10 सबसे मजबूत करेंसी के बारे में जानकारी देने जा रहें हैं। तो चलिए इस लेख में आगे तक अवश्य बने रहें।

विश्व की सबसे मजबूत 10 करेंसी

1. कुवैती दिनार (KWD)

कुवैती दिनार (KWD) दुनिया की सबसे मजबूत करेंसी है। 20 जनवरी, 2024 को, एक कुवैती दिनार की कीमत 3.25 अमेरिकी डॉलर या 270.05 भारतीय रुपये के बराबर है। यह अन्य किसी भी मुद्रा की तुलना में अधिक है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

2. बहरीन दिनार (BHD)

बहरीन दिनार (BHD) दुनिया की दूसरी सबसे मजबूत करेंसी है। इसकी विनिमय दर 2.65 अमेरिकी डॉलर है, जो कुवैती दिनार (KWD) की विनिमय दर 3.25 अमेरिकी डॉलर से कम है। बहरीन भी कुवैत की तरह एक तेल निर्यातक देश है, और इसके पास भी बड़े विदेशी मुद्रा भंडार और कम सरकारी ऋण हैं। इसके अतिरिक्त, बहरीन की अर्थव्यवस्था कुवैत की तुलना में कम आकार की है, जिससे दिनार की मांग कम होती है और उसकी कीमत को कम करने में मदद मिलती है।

3. ओमानी रियाल (OMR)

ओमानी रियाल (OMR) दुनिया की मजबूत मुद्राओं में से एक है। यह तीसरी सबसे मजबूत मुद्रा है, जो कुवैती दिनार और बहरीन दिनार के बाद आती है। एक ओमानी रियाल की कीमत लगभग 2.60 अमेरिकी डॉलर के बराबर है।

4. जॉर्डनियन दिनार (JOD)

जॉर्डनियन दिनार (JOD) दुनिया की मजबूत करेंसी में शामिल है। यह दुनिया की चौथी सबसे मजबूत मुद्रा है। एक जॉर्डनियन दिनार की कीमत 1.141 अमेरिकी डॉलर के बराबर है।

5. जिब्राल्टर पाउंड (GBP)

जिब्राल्टर पाउंड (GBP) दुनिया की 10 सबसे मजबूत मुद्राओं में से एक है। 2023 के आंकड़ों के अनुसार, 1 GIP लगभग 1.27 USD के बराबर है।

6. कैनरी द्वीप पाउंड (GBP)

2024-01-20 के आज के आंकड़ों के अनुसार, कैनरी द्वीप पाउंड (GBP) दुनिया की 10 सबसे मजबूत मुद्राओं में से छठे स्थान पर है। 1 GBP लगभग 1.27 USD के बराबर है।

7. ब्रिटिश पाउंड (GBP)

संबंधित खबर नोएडा और गाजियाबाद सहित देश के 33 सबसे प्रदूषित शहरों में से सात शहर उत्तर प्रदेश के हैं

नोएडा और गाजियाबाद सहित देश के 33 सबसे प्रदूषित शहरों में से सात शहर उत्तर प्रदेश के हैं

ब्रिटिश पाउंड (GBP) दुनिया की शक्तिशाली मुद्राओं में से एक है। यह दुनिया की 10 सबसे मजबूत मुद्राओं में से एक है और दुनिया की चौथी सबसे अधिक कारोबार वाली मुद्रा है।

8. आइरिश पाउंड (GBP)

आइरिश पाउंड (GBP) दुनिया की शक्तिशाली मुद्राओं में से एक है। यह दुनिया की 10वीं सबसे मजबूत मुद्रा है। 2023 के आज के आंकड़ों के अनुसार, 1 GBP लगभग 1.30 USD के बराबर है। आइरिश पाउंड की मजबूती के कई कारण हैं, जिनमें शामिल हैं:

9. माल्टा का लुई (EUR)

माल्टा का लुई (EUR) दुनिया की शक्तिशाली मुद्राओं में से एक है। यह दुनिया की 9वीं सबसे मजबूत मुद्रा है। 2024-01-20 के आज के आंकड़ों के अनुसार, 1 EUR लगभग 1.04 USD के बराबर है।

10. स्विट्जरलैंड का फ्रांक (CHF)

स्विट्जरलैंड का फ्रांक (CHF) दुनिया की सबसे शक्तिशाली मुद्राओं में से एक है। यह दुनिया की छठी सबसे अधिक कारोबार वाली मुद्रा है।

ये करेंसी मजबूत क्यों हैं?

इन करेंसी की मजबूती के कई कारण हैं। इनमें शामिल हैं:

  • आर्थिक स्थिरता: इन देशों की अर्थव्यवस्थाएं स्थिर हैं और इनमें अपेक्षाकृत कम आर्थिक अनिश्चितता है।
  • ब्याज दरें: इन देशों में ब्याज दरें आमतौर पर अपेक्षाकृत अधिक होती हैं, जिससे विदेशी निवेश को आकर्षित करने में मदद मिलती है।
  • कच्चे माल का निर्यात: इनमें से कई देश तेल और अन्य कच्चे माल के प्रमुख निर्यातक हैं, जिससे उन्हें विदेशी मुद्रा कमाई होती है।

भारतीय रुपये की स्थिति

भारतीय रुपये की रैंकिंग दुनिया में 15वीं है। एक अमेरिकी डॉलर की कीमत 83.13 रुपये के बराबर है। रुपये की कीमत में पिछले कुछ वर्षों में गिरावट आई है। इसका कारण कई कारक हैं, जिनमें अमेरिका में ब्याज दरों में वृद्धि, भारत में आर्थिक मंदी और वैश्विक अर्थव्यवस्था में अनिश्चितता शामिल हैं।

रुपये को मजबूत करने के लिए सरकार द्वारा कई कदम उठाए जा रहे हैं। इनमें विदेशी निवेश को आकर्षित करने के लिए नीतियों में सुधार, आयात को कम करने और निर्यात को बढ़ावा देना शामिल है। रुपये की कीमत में सुधार से भारत के निर्यातकों को लाभ होगा और आयात महंगा होगा। इससे भारत की व्यापार शेष राशि में सुधार होगा।

संबंधित खबर जापान की तर्ज पर बसाया जाएगा NCR का नया शहर, दिलों को मोह लेगा

जापान की तर्ज पर बसाया जाएगा NCR का नया शहर, दिलों को मोह लेगा

Leave a Comment

WhatsApp Subscribe Button व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp