एजुकेशन

Who is Khan Sir: कौन हैं पटना वाले खान सर? क्या है खान सर का असली नाम – परिवार शादी और बच्चो के बारे में जानकारी

खान सर का जन्म दिसंबर 1993 में यूपी के गोरखपुर शहर में हुआ था। इस समय यह पटना शहर में रहते है। इनके पिताजी एक अधिकारी के रूप में सेना (Army) में कार्यरत थे जो की अब सेवानिवृत हो चुके है।

इंटरनेट की दुनिया में खान सर (Khan Sir) का नाम अक्सर लोगो को सुनने में आता रहता है। यूट्यूब में उनका चैनल जीएस रिसर्च सेंटर (Khan GS Research Centre) विद्यार्थियों के बीच खासा लोकप्रिय है। इस चैनल के लगभग 1.45 करोड़ से ज्यादा फॉलोवर्स हो चुके है। अब आप जानना चाहेंगे कि क्या अंतर है खान सर की क्लास और अन्य लोगों की क्लास में। वह यह है कि खान सर का GS के टॉपिक्स को समझाने का अंदाज इतना आसान और सुगम है जो कि हर किसी को दीवाना बना जाता है। अपनी क्लास में सम-सामयिक टॉपिक्स को ठेठ बिहारी और सरल भाषा में समझाकर कोचिंग देते है।

खान सर ऑफलाइन मोड़ पर भी कोचिंग क्लासेज करते है। इनके कोचिंग इंस्टिट्यूट में हजारों की संख्या में छात्र पढ़ने के लिए आते है। इनकी क्लासेस में प्रतियोगी परीक्षा, GK की जानकारी दी जाती है। इनके कोचिंग सेंटरों में इतनी संख्या में बच्चे देखे जाते है कि कई बार तो कुछ बच्चों को खड़े रहकर ही क्लास लेनी पड़ती है। खान सर बिहार राज्य के पटना शहर से सम्बन्ध रखते है जो यूट्यूब जैसे ऑनलाइन वीडियो प्लेटफार्म पर अपने विशेष अंदाज़ वाले टीचिंग वीडियो के लिए प्रसिद्धि रखते है।

खान सर का जीवन परिचय

यह लेख पढ़कर आपको खान सर के नाम मशहूर शिक्षक खान सर के जीवन के तथ्यों को जानने का मौका मिलेगा। खान सर का जन्म दिसंबर 1993 में यूपी के गोरखपुर शहर में हुआ था। इस समय यह पटना शहर में रहते है। इनके पिताजी एक अधिकारी के रूप में सेना (Army) में कार्यरत थे जो की अब सेवानिवृत हो चुके है। इनकी माताजी एक गृहणी है और इनके बड़े भाई फ़ैज़ सेना में कमांडो की तरह कार्य कर रहे है। खान सर एक अध्यापक के रूप में काम करते है और इनका पूरा नाम “फैजल खान” है। इस समय ये अपने पढाने में मनोरंजक स्टाइल के लिए पुरे देश में बहुत प्रसिद्ध है।

खान सर अपने विद्यार्थी जीवन में काफी प्रतिभावान छात्र रहे है। उन्होंने बहुत से विषयों का लगन और मेहनत अध्ययन किया है। स्कूली पढ़ाई को अच्छे से पूरा करने के बाद खान सर ने NDA की परीक्षा में अच्छी रैंक प्राप्त की लेकिन फिर भी उनका चयन नहीं हो पाया। इसके बाद निराश ना होते हुए उन्होंने आगे की पढ़ाई में मन लगाया और इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से बीएससी और एमएससी की डिग्रियां पूरी की।

यह अपने यूट्यूब चैनल के द्वारा कोचिंग क्लासेस दे रहे है। इनके कोचिंग सेण्टर में एक बार में लगभग 2 हजार विद्यार्थी आ जाते है। खान सर ने अपने शिक्षण कार्य के अलावा कुछ खास किताबे भी लिखी है इनमें मुख्य रूप से सामान्य ज्ञान, विज्ञान, उर्दू की आदि विषयों पर आधारित किताबे है।

  • सेना में जाने की इच्छा अधूरी रह गयी – खान सर शिक्षक बनने से पहले सेना में जाने की इच्छा रखते थे। अपनी कड़ी मेहनत के दम पर उन्होंने नेशनल डिफेंस एकेडमी (NDA) की प्रवेश परीक्षा को भी उत्तीर्ण कर लिया। किन्तु हाथ में थोड़ा टेढ़ापन होने की वजह से अंतिम चयन से समय वे रह गए। उनके पिताजी ने इसके बाद उनका उत्साह बढ़ाया और कहा कि सिर्फ सेना में जाकर ही राष्ट्र की सेवा नहीं की जा सकती है। बहुत से दूसरे काम करके भी देश की सेवा कर सकते हो। इसके बाद अपने पास ही प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में लगे छात्रों को कोचिंग देने लगे।
  • कॉलेज में पढ़ाई के साथ राजनीति भी – खान सर अपने कॉलेज के दिनों में पढ़ाई के साथ राजनीति में भी रुचे लेते थे। वे कॉलेज की वेस्टूडेन्ट यूनियन के मेंबर रहे है और समय-समय पर अन्य छात्रों के हक को लेकर आंदोलनों में भागीदारी करते रहे है। इस कारण से उनको 3 बार जेल भी जाना पड़ गया था।
  • खान सर ने सगाई कर ली – सोशल मिडिया और अन्य माध्यमों से मिली जानकारी के अनुसार खान सर की कोई भी महिला मित्र नहीं है। हालाँकि उन्होंने एक डॉक्टर महिला के साथ सगाई कर ली है और अप्रैल 2020 में दोनों की शादी भी होने वाली थी। लेकिन देश में कोरोना महामारी के आ जाने के बाद शादी को रद्द कर दिया गया। उनकी मंगेतर डॉक्टर है और बनारस हिन्दू कॉलेज में अध्यापन का कार्य करती है।

खान सर की शारीरिक जानकारी

  • आयु – 29 वर्ष
  • लम्बाई – 5 फ़ीट 5 इंच
  • वजन – 62 किलो
  • आँखों का रंग – काला
  • बालों का रंग – काला

खान सर की व्यक्तिगत जानकारी

  • जन्म की तारीख – दिसंबर 1993
  • जन्मस्थल – गोरखपुर, यूपी
  • धर्म – इस्लाम
  • नागरिकता – इंडियन
  • कॉलेज – इलाहाबाद विश्विद्यालय, प्रयागराज
  • शैक्षिक योग्यता – बीएससी, एमएससी

खान सर की आय और व्यवसाय

  • आय के माध्यम – ऑफलाइन कोचिंग, मोबाइल ऐप और यूट्यूब चैनल
  • प्रसिद्धि – यूट्यूब चैनल पर पढ़ाने का तरीका
  • प्रति माह कमाई – 1-5 लाख रुपए लगभग
  • कुल संपत्ति – 2 करोड़ रुपए लगभग

यह भी पढ़े :- Tata Tiago: भारत की सबसे सस्ती इलेक्ट्रिक कार हुई लॉन्च…कब शुरू होगी बुकिंग? क्या है शुरुआती कीमत, जानिए सबकुछ

खान जीएस रिसर्च सेण्टर पटना की जानकारी

खान सर का बचपन यूपी के गोरखपुर (Gorakhpur) में बीता लेकिन इसके बाद वो पटना, बिहार में रहने के लिए आ गए। यहाँ पर आकर उन्होंने एक कोचिंग सेण्टर की शुरुआत की। वे ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रकार से कोचिंग की सेवा प्रदान कर रहे है। खार सर शुरू से ही किसी विशेष धर्म के विरुद्ध नहीं रहे है और वे सभी वर्ग और धर्म के छात्रों का सम्मान करते हुए शिक्षा प्रदान करते है।

  • आधा दर्जन छात्रों के साथ कोचिंग शुरू की – किसी अन्य कोचिंग सेंटर में अध्यापन कार्य की शुरुआत करने पर उनके कोचिंग सेंटर में मात्र 6 बच्चे ही आते थे। इसके बाद पढ़ाने के अंदाज़ और क्वालिटी एजुकेशन से यहाँ पर करीब 40 से 50 छात्रों का आना शुरू होने लगा। खान सर का पढ़ाना शुरू से ही बच्चों को इतना लुभावना लगा कि जल्द ही इन बच्चों का बैच 150 की संख्या पर पहुँच गया।
  • कोचिंग सेंटर के मालिक भी प्रसिद्धि से डरे – खान सर के पढ़ाने के विचित्र तरीके के प्रसिद्ध होने के कारण एक समय तो ऐसा आया कि उनके कोचिंग सेंटर के मालिक को यह डर लगने लगा कि यदि सर कोचिंग सेण्टर छोड़ देंगे तो इस सेण्टर के बच्चे भी आने बंद हो जायेगें। मालिक ने उनको अपनी पहचान को छिपाकर रखते हुए ‘अमित सिंह’ नाम से ही पढ़ाने की हिदायत दी। लेकिन बाद में उन्होंने अपना नाम ‘खान सर’ लगन, प्रतिभा और मेहनत से बना लिया।

वंचित तबके के छात्रों की सहायता की

खान सर के अनुसार, उन्होंने देखा कि बिहार के निर्धन परिवार के बच्चों को उच्च गुणवत्तता वाली शिक्षा नहीं मिल पा रही है। इस समस्या को हल करने के लिए उन्होंने छात्र-छात्राओं को सिर्फ 200 रुपए प्रति माह की फीस पर प्रतियोगी परीक्षा की क्लासेज देना शुरू कर दिया। खान सर अपने छात्रों को एक प्रसिद्ध उक्ति बताते हुए दिख जाते है – “शिक्षा उस शेरनी का दूध है, जिसने पिया, वो दहाड़ा है।”

खान सर का नाम, ज्ञान और लगन पुरे बिहार राज्य में फ़ैल रही है। इस कारण से बहुत से छात्र उनके पास पढ़ने के लिए आने लगे है। थोड़ा पैसा एकत्रित होने के बाद खान सर ने एक अनाथालय भी बनाया जिसमें अनाथ तबके के बच्चे अच्छी देखभाल में रहकर शिक्षा भी ग्रहण करते है।

खान सर के सोशल मिडिया अकाउंट की जरुरी जानकारी

खान सर की व्यक्तिगत (Offline) क्लास का हिस्सा न बन पाने वाले छात्रों को निराश होने की जरुरत नहीं है। चूँकि वे सोशल मिडिया प्लेटफार्म के माध्यम से खान सर से जुड़ सकते है।

  • छात्रों को बस उनके यूट्यूब (Youtube) चैनल का नाम “Khan GS Research Centre” सर्च करना है। उनके इस यूट्यूब चैनल पर करीबन 9.44 मिलियन सब्स्क्रिबर्स हो चुके है और यह काफी तेज़ी से बढ़ भी रहे है।
  • खान सर की इंस्टाग्राम आईडी “Khansirpatna_” है और इनके इंस्टाग्राम पर कुल फॉलोवर्स 126K हो चुके है।
  • फेसबुक पर खान सर के पोस्ट और वीडियो को देखने के लिए “www.facebook.com/khangsresearchcenter” एड्रेस को सर्च करें।
  • एंड्राइड फ़ोन पर खान सर से जुड़ने के लिए आप “KHAN SIR OFFICIAL” नाम के एंड्रॉइड ऐप को प्ले स्टोर पर सर्च करके इंस्टाल कर सकते है।

खान सर के साथ कुछ विवाद

खान सर अपने शिक्षण से जितने लोकप्रिय और चहेते बने हुए है उतना ही वे थोड़े से विवादों के साये में भी रहते है। इनमें से मुख्य रूप से पंचर बनाने, खास वर्ग के अधिक बच्चे पैदा करने, पाकिस्तान से फ़्रांस के राजदूत को देश से बाहर निकलने का रहस्य समझाने आदि को लेकर भी चर्चा में रहे है। हाल के ही दिनों में रेलवे भर्ती परीक्षा को लेकर वीडियो को पुलिस ने भड़काऊ बताकर एफआईआर दर्ज की थी।

सम्बंधित खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Kartik Purnima 2022: कब है कार्तिक पूर्णिमा? यहां जानें सही डेट, JNVST Admission 2023: नवोदय विद्यालय कक्षा 6 के रजिस्ट्रेशन विधवा पेंशन योजना 2022: Vidhwa Pension ऑनलाइन आवेदन New CDS of India Anil Chauhan: जानिए कौन हैं अनिल चौहान