एजुकेशन

Jawahar Navodaya Vidyalaya : नवोदय विद्यालय में कैसे मिलता है एडमिशन, जानें सबकुछ

शिक्षा मंत्रालय के अंतर्गत नवोदय विद्यालय समिति देशभर के भिन्न-भिन्न हिस्सों में Jawahar Navodaya Vidyalaya का संचालन करती है।

शिक्षा के महत्त्व को समझते हुए सरकार द्वारा जवाहर नवोदय विद्यालय देश की ग्रामीण प्रतिभा को निखारने में अपनी भूमिका अदा कर रहा है। इन विद्यालयों से पढ़ने वाले बच्चे प्रत्येक वर्ष जेईई-मेन, जेईई-एडवांस और नीट जैसी उच्च परीक्षाओं में बड़ी संख्या में अच्छी रैंक पा रहे है। यहाँ के विद्यार्थी राष्ट्रीय स्तर पर अच्छा करके विभिन्न क्षेत्रों में अपनी कामयाबी की कथा लिख रहे है। शिक्षा मंत्रालय के अंतर्गत नवोदय विद्यालय समिति देशभर के भिन्न-भिन्न हिस्सों में Jawahar Navodaya Vidyalaya का संचालन करती है।

यहाँ पर छात्रों को लड़को एवं लड़कियों के छात्रावास में रहने की सुविधा मिलती है। इसके अतिरिक्त निशुल्क शिक्षा, खाने की सुविधा भी मिलती है। ये स्कूल CBSC (सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन) बोर्ड से मान्यता प्राप्त होते है।

कक्षा 6 से 12 तक की निःशुल्क शिक्षा

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 1986 के अंतर्गत ग्रामीण इलाको के प्रतिभाशाली छात्रों को गुणवत्तापूर्ण एवं आधुनिक शिक्षा देने के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए पहली बार हरियाणा के झज्जर एवं महाराष्ट्र के अमरावती में नवोदय विद्यालय खुले थे। लेकिन इस समय देश में JNV की संख्या 661 हो चुकी है। इन विद्यालयों में बच्चे कक्षा 6 में प्रवेश लेकर कक्षा 12 तक फ्री शिक्षा पा सकते है। इन 7 वर्षों की शिक्षा का खर्च सरकार द्वारा उठाया जायेगा। देश के 28 प्रदेशों एवं 7 केंद्रशासित प्रदेशों में मौजूद इन JNV स्कूल का संचालन 8 क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा होता है।

प्रवेश के लिए जरुरी प्रमाण-पत्र

  • जन्मतिथि का प्रमाण-पत्र
  • पासपोर्ट आकार फोटो
  • निवास प्रमाण पत्र
  • हस्ताक्षर की स्कैन फोटो
  • माता-पिता के सिग्नेचर

नवोदय में एडमिशन कैसे लें?

  • सबसे पहले नोवदय समिति आधिकारिक वेबसाइट पर जाए।
  • अब वेबसाइट पर “कैंडिडेट कार्नर” दिखेगा। यहाँ पर “Latest navodaya vidyalaya entrance exam” के लिंक को चुने।
  • इसके अगले विंडो पेज पर “Online Application For Admission to Class 6th” लिंक को चुन लें।
  • इसके बाद आपको “Admission Form” को चुनना है और इसमें सभी डिटेल्स को भरना है।
  • फॉर्म को जाँचने के बाद इसका प्रिंटआउट ले, चूँकि प्रवेश पत्र (Admit Card) को डाउनलोड करने में यह काम आएगा।

शुल्क की जानकारी

नवोदय विद्यालय में कक्षा 6 से 8 तक पढ़ाई के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाता है। साथ ही अनुसूचित जाति/ जनजाति के छात्रों को पढ़ाई निःशुल्क मिलेगी। लड़कियों को भी निःशुल्क पढ़ाई मिलेगी। लेकिन सामान्य एवं OBC वर्ग के छात्रों को कक्षा 9 से प्रति महीना 600 रुपए शुल्क अदा करना होगा। जिन बच्चों के माता-पिता सरकारी नौकरी में है उनको कक्षा 9 से 12 तक प्रति महीना 1500 रुपए तक फीस देनी होगी। BPL कार्ड परिवार से सम्बंधित बच्चों को शिक्षा निःशुल्क मिलेगी।

यह भी पढ़ें :- CBSE Sample Papers 2022-23 (Soon): 10 वीं और 12 वीं बोर्ड के छात्र सैंपल पेपर्स का उपयोग कर ऐसे कर सकते हैं तैयारी

कक्षा-6 में प्रवेश प्रक्रिया

  • छात्र किसी पब्लिक या राजकीय विद्यालय से कक्षा-5 उत्तीर्ण हो।
  • प्रवेश परीक्षा के समय छात्र की आयु 9 से 13 के मध्य हो
  • प्रवेश परीक्षा को कुल 20 भाषों में दिया जा सकेगा।
  • प्रवेश परीक्षा में प्रदर्शन एवं आरक्षण नीति से प्रवेश मिलेंगे।

कक्षा-9 में प्रवेश प्रक्रिया

  • कक्षा-9 में प्रवेश लेटरल प्रवेश के द्वारा भी मिल सकेगा।
  • जिले की किसी मान्यता प्राप्त विद्यालय से कक्षा-8 उत्तीर्ण छात्र ही प्रवेश परीक्षा दे सकता है।
  • प्रवेश के समय छात्र की आयु 13 से 16 वर्ष हो।
  • प्रवेश परीक्षा 100 अंको की होगी जिसमे कक्षा-8 के प्रश्न होंगे।

कक्षा-11 में प्रवेश प्रक्रिया

  • प्रवेश लेने वाले छात्र की आयु 14 से 18 वर्ष हो।
  • छात्र को उसकी कक्षा-10 की परीक्षा में मिले अंकों के आधार पर प्रवेश मिलेगा।

विद्यालय में प्रवेश की शर्ते

  • विद्यालय जिस जिले में स्थित है उसी जिले के छात्र को प्रवेश मिलेगा।
  • प्रवेश के लिए बच्चे की उम्र 9 से 11 वर्ष के मध्य होनी चाहिए।
  • छात्र कक्षा-5 उत्तीर्ण होना चाहिए।
  • कक्षा-9 में प्रवेश के लिए छात्र की आयु 13 से 16 वर्ष के मध्य होनी चाहिए।
  • कक्षा 11 में प्रवेश के लिए बच्चे की उम्र 14 से 18 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • जिन बच्चों ने कक्षा 3, 4, या 5 में से कोई भी शहरी क्षेत्र से उत्तीर्ण की है वो शहरी प्रत्याशी माने जायेगे।
  • ग्रामीण कोटे का लाभ सरकारी सहायता प्राप्त (मान्यता प्राप्त) विद्यालय से उत्तीर्ण छात्रों को मिलेगा।
  • एक बार प्रवेश परीक्षा को दे लेने के बाद छात्र को दूसरा अवसर नहीं मिलता है।
  • छात्र प्रवेश परीक्षा में सफल हो अथवा नहीं वह पेपर एक ही बार दे सकता है।

सम्बंधित खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
सिंगर जुबिन नौटियाल का हुआ एक्सीडेंट, पसली और सिर में आई गंभीर आई Jubin Nautiyal Accident Salman Khan Ex-Girlfriend Somy Ali :- Salman Khan पर Ex गर्लफ्रेंड सोमी अली ने लगाए गंभीर आरोप इन गलतियों की वजह से अटक जाती है PM Kisan Yojana की राशि, घर बैठें कराएं सही Mia Khalifa होंगी Bigg Boss की पहली वाइल्ड कार्ड कंटेस्टेंट Facebook पर ये पोस्ट करना पहुंचा देगा सीधे जेल!