महाराष्ट्र भूमि अभिलेख ऑनलाइन महाभूलेख ऐसे देखें @bhulekh.mahabhumi.gov.in

महाराष्ट्र के नागरिकों को महाराष्ट्र भूमि अभिलेख वेबपोर्टल के द्वारा जमीन के अभिलेख मिलने वाले है। यह काम महाराष्ट्र की जमीन संबधित मामलो को कम्पूटराइज़ करने के लिए किया जा रहा है। इसकी सहायता से प्रदेश के नागरिक घर से ही ऑनलाइन भूमि के अभिलेख कार्ड बनवा सकेंगे और इसके बाद वे रिन्यू भी कर ... Read more

Photo of author

Reported by Sheetal

Published on

महाराष्ट्र के नागरिकों को महाराष्ट्र भूमि अभिलेख वेबपोर्टल के द्वारा जमीन के अभिलेख मिलने वाले है। यह काम महाराष्ट्र की जमीन संबधित मामलो को कम्पूटराइज़ करने के लिए किया जा रहा है। इसकी सहायता से प्रदेश के नागरिक घर से ही ऑनलाइन भूमि के अभिलेख कार्ड बनवा सकेंगे और इसके बाद वे रिन्यू भी कर सकते है। सरकार इस वेबपोर्टल को नागपुर, औरंगाबाद, पुणे, अमरावती इत्यादि प्रमुख क्षेत्रों में विस्तारित करने वाली है। ऑनलाइन वेबपोर्टल की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इसके माध्यम से आप बिना सरकारी ऑफिसों के चक्कर काटे अपनी भूमि से जुडी जानकारियों को ऑनलाइन दे सकते है।

महाभूमि अभिलेख 7/12 अथवा महाराष्ट्र भूमि अभिलेखा (मराठी में 7/12 उत्तार) ऑफिसियल वेबसाइट bhulekh.maharashtra.gov.in भूमि रिकॉर्ड तक लाने के लिए काम कर रहा है। ऑनलाइन 7/12 उत्तार महाभूमि अभिलेख एक ऑनलाइन वेबपोर्टल है जिस पर नागरिक अपनी जमीन के रिकॉर्ड पहुँचा सकते है। महाराष्ट्र (Maharashtra) के सोलापुर, पुणे एवं दूसरे क्षेत्रों में महाभूलेख सतबारा (7/12) का वेबपोर्टल मराठी भाषा में भी उपलब्ध है। यह वेबपोर्टल जमीन से जुडी सभी जानकारी देने का काम करेगा।

वेबपोर्टल का नाममहाराष्ट्र महाभूलेख
कार्यान्वकमहाराष्ट्र सरकार
लाभार्थीप्रदेश के नागरिक
पोर्टल का प्रयोगऑनलाइन माध्यम से जमीन की जानकारी देना
माध्यमऑनलाइन
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://bhulekh.mahabhumi.gov.in/

Table of Contents

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

महाभूलेख 7/12 या सतबारा

महाराष्ट्र में सतबारा उत्तार (Satbara Uttar) अथवा (7/12) एक प्रमुख प्रमाण-पत्र है यह किसी भी जमीन के मालिक की जानकारी देता है। इस जानकारी में भूमि का मालिक, सर्वेक्षण संख्या, जमीन के मालिकाना अधिकार की तिथि इत्यादि। यहाँ पर दिया गया नंबर 7 फॉर्म जो कि नंबर 7 को प्रस्तुत करता है। इसमें जमीन के मालिक से जुड़े सभी डिटेल्स होते है। इसी क्रम में नंबर 12 का फॉर्म है जो नंबर 12 को दर्शाता है। इस नंबर 12 के फॉर्म में जमीन के इस्तेमाल से जुडी डिटेल्स होती है जैसे जमीन के खेती आदि के प्रयोग से सम्बंधित जानकारी। इन डिटेल्स को तहसीलदार के माध्यम से प्राप्त किया जाता है। इसमें जमीन के सभी डिटेल्स, हिस्ट्री एवं इससे जुड़े वाद-विवाद का रिकॉर्ड।

महाराष्ट्र महाभूलेख ऑनलाइन

भूलेख को विभिन्न नामों से जानते है जैसे – जमाबन्दी, खसरा खतौनी, अभिलेख, भूमि का विवरण, खेत के कागजात, खेत का नक्शा इत्यादि। अब प्रदेश सरकार नागरिकों को ऑनलाइन जानकारी लेने के लिए वेबपोर्टल की सुविधा दे रही है। इस वेबपोर्टल के द्वारा हर जरूरतमंद नागरिक घर बैठे ही ऑनलाइन माध्यम से जमीन की जानकारी (Land Record) ले सकता है। प्रदेश के नागरिक कही से भी अपनी जमीन की ऑनलाइन जानकारी पा सकते है और ऑनलाइन ही डाउनलोड भी कर सकते है। इस पोर्टल से लोगों को सुविधा होगी और उनका समय भी बचेगा।

संबंधित खबर शहनाज़ गिल किस अभिनेता के साथ रोमांटिक दृश्य करती नज़र आएगी

शहनाज़ गिल किस अभिनेता के साथ रोमांटिक दृश्य करती नज़र आएगी

ई-मैप की जानकारी

भू अभिलेख विभाग ने राज्यभर में नक़्शे तैयार करवाए है। इन नक्शों की सहायता से ही जमीन की सीमाओं को तैयार करेंगे। इन सभी नक्शों का डिजिटलीकरण किया जायेगा। यही मैप ऑफिसियल वेबपोर्टल पर अपलोड रहेंगे। इस मैप से प्रदेश के सभी लोग जमीन की जानकारी पा सकेंगे। इस प्रकार से राज्य के सभी लोग नक़्शे को देखने के लिए सरकारी वेबपोर्टल का प्रयोग कर सकेंगे। और प्रदेश के लोग मैप के को देखने के लिए सरकारी ऑफिसों के चक्कर नहीं काटेंगे।

ई-भूलेख की जानकारी

e-Bhulekh की शुरुआत भूमि रिकॉर्ड के आधुनिकीकरण प्रोग्राम के अंतर्गत हुई है। इसके द्वारा राज्य के सभी लोगों को कम्पूटराइज़ सातबारा डेटा एवं भू-नक्शा सरलता से मिल जाता है। यह सभी जानकारी एक ही स्थान पर मिल जाती है। इसे अतिरिक्त आधिकारिक वेबसाइट पर नागरिक अपनी आय से सम्बंधित जानकारी भी देख सकेंगे। इस ऑफिसियल वेबसाइट से मिले डिटेल्स के की सहायता से लोग लोन को भी प्राप्त कर सकते है। इस तरह से राज्य के लोग आधुनिक तकनीक की मदद से अपनी जमीन से जुडी जानकारी पा सकते है।

महा भू-अभिलेख के उद्देश्य

इस वेबपोर्टल के माध्यम से जमीन से जुड़े सभी रिकॉर्ड को ऑनलाइन माध्यम से मुहैया करवाना है। इस प्रकार से प्रदेश के नागरिक सरकारी कार्यालयों के चक्कर नहीं लगाएंगे। लोग किसी भी स्थान से ही अपने जमीन सम्बन्धी रिकॉर्ड को चेक कर सकते है।

वेबपोर्टल के उपयोग के लिए पात्रता

  • लाभार्थी व्यक्ति महाराष्ट्र राज्य का स्थाई निवासी हो।
  • प्रदेश के किसी भी वर्ग से सम्बंधित व्यक्ति को इस सुविधा का लाभ मिलेगा।

ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड से जानकारी लेना

  • सबसे पहले आपको आधिकारिक वेबपोर्टल bhulekh.mahabhumi.gov.in को ओपन करना है।
  • इसके बाद आपने पुणे, नासिक, औरंगाबाद, नागपुर, कोंकण अथवा अमरावती का चुनाव करना है।
  • इसे बाद आपको “Go” बटन को दबा देना है।
  • आपको एक नया वेबपेज मिलेगा जिसमें से आपने “7/12” अथवा “8 A” को चुनना है।
  • इसके बाद जिला, ताल्लुक, गाँव एवं मोबाइल नंबर इत्यादि को चयनित करके “खोजे” बटन को दबा देना है।
  • अब दिख रहे कॅप्टचा कोड को टाइप कर दें।
  • इसके बाद “वेरिफिकेशन कॅप्टचा” को चुने।
  • अब “डिस्प्ले 7/12” विकल्प को चुन लें।
  • इस विकल्प को चुनने के बाद आपको जानकारी अपने डिवाइस के स्क्रीन पर मिलेगी।

महाभूलेख लैंड रिकॉर्ड ऐप इनस्टॉल करना

  • सबसे पहले आप “गूगल प्ले स्टोर” पर जाए।
  • अब आप सर्च बॉक्स में “Maha Bhulekh” टाइप करके एंटर बटन दबा दें।
  • मिलने वाली सूची में से पहले विकल्प को चुनना है।
  • इसके बाद आपको अपने स्क्रीन पर महा भूलेख का वेब पेज मिलेगा।
  • इसके नीचे “Install” के बटन को दबाना है।
  • इस प्रकार से आपके फ़ोन में महा भूलेख ऐप इनस्टॉल हो जायेगा।

महाराष्ट्र भूमि अभिलेख के लाभ

  • इस वेबपोर्टल से प्रदेश की जमीन से सम्बंधित जानकारी मिल जाती है।
  • नागरिक अपनी जमीन की जानकारी के लिए किसी भी कार्यालय के चक्कर नहीं लगेंगे।
  • वेबपोर्टल उपयोगकर्ता को जमीन से सम्बंधित सभी जानकारी कुछ ही मिनटों में मिल जाएगी।
  • जमीन की जानकारी को लोग अपने स्मार्टफोन, कंप्यूटर, लैपटॉप की सहायता से आसानी से प्राप्त कर सकेंगे।
  • इस सुविधा के द्वारा प्रदेश के लोगों को डिजिटल बनाया जायेगा।
  • वेबपोर्टल का उपयोग करने वाले लोगों के समय एवं धन की बचत होगी।
  • जमीन की खरीद से पहले जमीन के असली मालिक का पता लगेगा, इससे जमीन के फ्राड मामलों की रोकथाम होगी।
  • किसी व्यक्ति की जमीन पर किसी अन्य व्यक्ति एक कब्ज़ा नहीं हो सकेगा।
  • जमीन के मालिक को ही ऑनलाइन सुविधा होने पर स्वामित्व का लाभ मिलेगा।
  • महाराष्ट्र की सभी जमीन के रिकॉर्ड इस वेबपोर्टल पर उपलब्ध होंगे।
  • प्रदेश की जमीन सम्बंधित जानकारी को नागरिक बीए किसी शुल्क प्राप्त कर सकते है।

7/12 म्यूटेशन एंट्री की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आप पब्लिक डाटा एंट्री फॉर प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन एंड म्युटेशन इन लैंड रिकॉर्ड की ऑफिसियल वेबसाइट को ओपन करना है।
  • इसे बाद “Proceed To Login” बटन को दबाना है।
  • अब आपने अपना यूजरनेम, पासवर्ड एवं कॅप्टचा कोड को टाइप करने के बाद “Login” बटन को दबाना है।
  • यह करने के बाद आपको “7/12 म्युटेशन” विकल्प को चुनना है।
  • इसे बाद रोल को चुन लें।
  • इसको चुनने के बाद आपको अपने लैंड रिकॉर्ड में जो एंट्री करनी है, वो कर सकते है।
  • यह सभी कर लेने के बाद “Submit” बटन दबा देना है।

पेमेंट की स्थिति देखना

  • सबसे पहले आप डिजिटल सिग्नेचर करण 7/12, 8A एवं प्रॉपर्टी कार्ड हस्ताक्षर करण की ऑफिसियल वेबसाइट को ओपन कर लें।
  • इसके बाद आप “Check Payment Status” बटन को दबा लें।
  • अब आप PRN No. को टाइप करके “Submit” बटन को दबा दें।
  • इसके बाद आपको स्क्रीन पर सम्बंधित जानकारी मिल जाएगी।

संबंधित खबर lpg-cylinder-price-cuts-200-rupees-from-today

LPG Cylinder Price: सरकार ने घरेलु LPG की कीमत में 200 रुपयों की कटौती की, ग्राहकों का बोझ कम होगा

Leave a Comment

WhatsApp Subscribe Button व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp