न्यूज़

महिला निधि योजना : सरकार ने महिलाओं के लिए शुरू की नई योजना, 48 घंटों में मिलेगा 40 हजार रूपये लोन

महिला निधि योजना : देश में महिलाओं के सशक्तिकरण करने और उन्हें स्वावलंबी बनाने के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत जी द्वारा महिला निधि योजना की शुरुआत की गई है। जिसके माध्यम से महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने में मदद की जाएगी इसके लिए योजना के तहत जो महिलाएँ अपने खुद के कारोबार या रोजगार की शुरुआत करना चाहती हैं, उन्हें सरकार द्वारा लोन मुहैया करवाया जाएगा, जिससे वह बिना किसी आर्थिक समस्या के अपने रोजगार की शुरुआत कर सकेंगी। इसके लिए आवेदक महिला निधि योजना के अंतर्गत आवेदन करना होगा, आवेदन के 48 घंटे के अंदर ही महिला को लोन का प्रावधान है।

48 घंटों में मिलेगा 40 हजार रूपये लोन

राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई महिला निधि योजना के अंतर्गत राज्य की महिलाओं को सशक्त बनाने और उन्हें कारोबार की शुरुआत करने में सहयोग देने के लिए 40,000 रूपये तक का लोन 48 घंटों में दिया जाएगा। यदि आवेदक इससे अधिक लोन राशि प्राप्त करना चाहते हैं तो लोन 15 कार्य दिवस में उपलब्ध करवाया जाएगा, जिससे राज्य में महिला स्वयं सहायता समूह को मजबूत बनाने और महिलाओं को आत्मनिर्भर होकर अपने रोजगार की शुरुआत करने में मदद मिल सकेगी।

इस योजना की लॉन्चिंग के दौरान सीएम अशोक गेहलोत ने 6 जिलों के 386 स्वयं सहायता समूहों की सदस्यों को 1 करोड़ 42 लाख रूपये की राशि योजना के माध्यम से लोन के रूप में प्रदान करवाई गई।

33 जिलों में 2.70 लाख SHG का किया गठन

Mahila Nidhi Yojana के माध्यम से अब तक राजस्थान के 33 जिलों में 2.70 लाख स्वयं सहायता समूह का गठन किया जा चुका है। जिसमे लगभग 30 लाख परिवार जुड़े हुए हैं और वित्तीय वर्ष 2022-23 में 50 हजार स्वयं सहायता समूहों का गठन किया जाएगा, जिनमे कुल 6 लाख परिवारों को जोड़ा जाएगा। इससे भविष्य में राज्य के कुल 36 लाख परिवारों को फायदा होगा। महिला निधि योजना के माध्यम से राज्य में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने में मदद मिलेगी, जिससे उन्हें आर्थिक खर्चों के लिए दूसरों पर निर्भर नही रहना पड़ेगा।

वर्ष 2022-23 के लिए बजट का ऐलान

राज्य सरकार ने राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद के माध्यम से बजट 2022-23 के लिए महिला निधि योजना को स्थापितकरने की घोषणा की है। इस योजना के माध्यम से राज्य की गरीब व सम्पत्तिहीन महिलाओं को अपने कारोबार की शुरुआत के लिए आसानी से कर्ज मिल सकेगा, तेलंगाना के बाद राजस्थान दूसरा राज्य है जहाँ महिला निधि योजना की स्थापना की गई है।

लोन लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज

महिला निधि योजना के तहत राज्य की जो महिलाएँ आत्मनिर्भर बनने के लिए अपने रोजगार की शुरुआत करना चाहती हैं उन्हें योजना में आवेदन के लिए कुछ जरुरी दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी, जिसके माध्यम से वह आवेदन की प्रक्रिया को पूरा कर सकेंगी इसके लिए महिला को अपने आधारकार्ड, पहचान पत्र, आय प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र और बैंक अकाउंट की जानकारी आवेदन फॉर्म में देनी होगी।

योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए राज्य की जो महिलाएँ आवेदन करना चाहती है, उनके लिए जल्द ही सरकार इसकी आवेदन प्रक्रिया की शुरुआत करेगी, जिसके बाद ही वह योजना में आवेदन कर सकेंगी।

सम्बंधित खबर

कमेंट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button