न्यूज़

महिला न्यूज एंकर ने नहीं पहना ‘हिजाब’… तो ईरान के राष्ट्रपति ने इंटरव्यू देने से किया इनकार

अपने देश में हिजाब पर काफी विवाद में बाद एक बाद फिर से हिजाब विवाद ख़बरों का हिस्सा बन गया है। इस बाद भारत नहीं ईरान से हिजाब को लेकर बड़ा विवाद सामने आ रहा है। कुछ ही समय बीतने पर ईरान में हिजाब विवाद विकराल रूप लेने लगा है। हजारों महिलाओं ने सडको पर आकर इस घटना का विरोध किया है। एक टीवी न्यूज़ की महिला न्यूज एंकर के ‘हिजाब’ ना पहनने पर ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी (Ebrahim Raisi) ने इंटरव्यू देने से मना कर दिया। ईरान के राष्ट्रपति ने इंटरव्यू देने से किया इनकार से देशभर में हिंसा का माहौल बन गया।

महिला न्यूज एंकर ने नहीं पहना ‘हिजाब’… ईरान के राष्ट्रपति ने इंटरव्यू नहीं दिया
महिला न्यूज एंकर ने नहीं पहना ‘हिजाब’… ईरान के राष्ट्रपति ने इंटरव्यू नहीं दिया

आखिर क्या है ईरानी ‘हिजाब’ विवाद

दरअसल CNN की चीफ इंटरनेशनल एंकर क्रिश्टियन अमानपोर (Christiane Amanpour) के साथ यह विवाद हुआ है। इसको लेकर सोशल मिडिया पर ईरान की बहुत निंदा भी की जा रही है। अमानपोर को न्यूयॉर्क में राष्ट्रपति रईसी का इंटरव्यू लेना था। इस इंटरव्यू में ईरान में पिछले एक सप्ताह से चले आ रहे हिजाब विवाद को लेकर चर्चा होनी थी। उस दिन वह इंटरव्यू की तैयारी करके बैठी थी कि राष्ट्रपति के सहायक ने पत्रकार को हिजाब पहनकर इंटरव्यू लेने को कहा। इसके साथ ही यह भी कहा गया यदि वे ऐसा नहीं करेगी तो इंटरव्यू नहीं हो पायेगा।

यह भी पढ़ें :-DA Arrear Update : केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, बकाया डीए एरियर देने की डेट तय, अकाउंट में आएंगे इतने हजार

महिला पत्रकार ने शर्त मानने से इनकार किया

अमानपोर ने सामने इस प्रकार की शर्त रखे जाने पर इसे मानने से इनकार कर दिया। महिला पत्रकार का कहना था कि वे लोग न्यूयोर्क में है और यहाँ पर इस प्रकार से नियम और परंपरा मान्य नहीं है। ऐसा कहने के बाद ईरानी राष्ट्रपति ने इंटरव्यू में आने से मना कर दिया।

इससे पहले रईसी संयुक्त राष्ट्र महासभा के अधिवेशन का हिस्सा बनने के लिए न्यूयोर्क पहुंचे हुए थे। इसी बीच में इस अमेरिकी न्यूज़ चैनल से उनका ‘हिजाब विवाद’ को लेकर इंटरव्यू तय हो गया। ब्रिटिश-ईरानी मूल की इस महिला पत्रकार ने अपने ट्वीटर अकाउंट के माध्यम से इस मामले की पूरी जानकारी लोगो को बताई।

पुलिस हिरासत में मौत से बवाल

एक गैर सरकारी ग्रुप ने इस विवाद के बाद हुई हिंसक झड़प में 31 लोगों के मरने का दावा है। ईरानी सरकार ने इस विवाद पर गंभीरता से प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए देश में इंस्टाग्राम एवं इंटरनेट पर रोक लगा दी है। ईरान में महसा अमीनी की मौत होने के बाद से ‘हिजाब’ विवाद पर आक्रोश सामने आने लगा। लोगों ने सड़कों पर आगजनी की और गाड़ियों में भी आग लगा दी। लोगो का गुस्सा पुलिस हिरासत में मौत होने के कारण ज्यादा था और ये आग देखते-देखते पुरे देश में फैल गयी।

देशभर में हिजाब विवाद की आग

प्रदर्शनकारियों ने पुलिस थानों में भी आगजनी की है और प्रदर्शन करते समय हिजाबों को आग लगाने का काम हो रहा है। खबरे आ रही है कि इस समय कम से कम 50 शहर इस विवाद के बाद से प्रदर्शन का दंश झेल रहे है। ईरानी राष्ट्रपति के कारण से पूरा तेहरान ‘हिजाब’ के विरोध में एकजुट हो चुका है।

सम्बंधित खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button