न्यूज़

कौन है झुनझुनवाला के गुरु, जिनको मिला है अरबों डॉलर की संपत्ति की देख रेख का जिम्मा!

भारत के जानेमाने निवेशक राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) के देहांत के बाद BSE (बांबे स्टॉक एक्सचेंज) ने बीते सप्ताह में एक शोक सभा का आयोजन किया। इसमें रेयर इंटरप्राइजेज के सीईओ उत्पल सेठ ने झुनझुनवाला को अपना मित्र और मार्गदर्शक कहा था। भारत में वॉरेन बफेट के रूप में प्रसिद्ध मिलिनियर झुनझुनवाला के देहांत के बाद सभी ओर एक ही प्रश्न उठ रहा था। वह प्रश्न था कि अब इस दिग्गज निवेशक के ट्रस्ट की बागडोर किसके हाथ में होगी।

झुनझुनवाला के मित्र और मार्गदर्शक राधाकिशन दमानी (Radhakisan damani) का नाम भी भारत के अमीर व्यक्तियों जैसे टाटा, बिरला और अम्बानी की लिस्ट में जुड़ रहा है। भारत के शीर्ष निवेशकों के नाम देंखे तो बिना किसी शक के उसमे झुनझुनवाला, राकेश दामनी और रमेश दमानी के नाम अंकित है।

राधा कृष्णन दमानी

दमानी ने बॉम्बे विश्वविद्यालय से कॉमर्स विषयों के साथ स्नातक की डिग्री की पढ़ाई की है। करियर के आरम्भ में उनकों एकाउंट्स में काफी रूचि थी। वह हिंदी और अंग्रेजी भाषा को जानते है। दमानी बहुत ही अंतर्मुखी व्यक्ति है जो बोलने से अधिक सुनने में विश्वास रखते है। दमानी ने अपने काम के जरिये फ़ोर्ब्स पत्रिकाकी 500 व्यक्तियों की अमीरों व्यक्तियों में से 98वां स्थान पा लिया था। दमानी का व्यापार सिर्फ शेयरों तक ही नहीं है, वे डीमार्ट ब्रांड के सफल कारोबारी भी है।

यह भी देंखे :- Bank Holidays: जल्द निपटा लें अपने जरूरी काम, सितंबर में 13 दिन बंद रहेंगे बैंक

दमानी के पोर्टफोलियो की जानकारी

वर्तमान में दमानी के पोर्टफोलियो में 5 प्रमुख शेयरों में एवेन्यू सुपरमार्ट्स, इंडिया सीमेंट, ट्रेंट, वीएसटी इंडस्ट्रीज और सुंदरम होल्डिंग मौजूद है।

  • दमानी ने साल 2002 में शेयर बाजार से अलग हटते हुए मुंबई में पहला डीमार्ट स्टोर शुरू किया था। अब देश के अलग-अलग शहरों में इसके 200 ज्यादा स्टोर्स है। इसमें दमानी की हिस्सेदारी 65.2 प्रतिशत है।
  • इण्डिया सीमेंट में दमानी की 12.7 प्रतिशत की शेयरिंग की है। उनके पास कंपनी के 3.93 करोड़ शेयर है जिनका वर्तमान मूल्य 814 करोड़ रूपये है।
  • दमानी के पास टाटा समूह की खुदरा इकाई ट्रेंट के लगभग 54.21 लाख शेयर है। इनके पास कंपनी की कुल 1.5 प्रतिशत हिस्सेदारी है।

सम्बंधित खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button