Credit:- Times Now Navbharat

विवाह पंचमी कब है, इस दिन विवाह करना अशुभ क्यों माना जाता है?

Credit:- India TV Hindi 

मार्गशीर्ष महीने के शुक्‍ल पक्ष की पंचमी तिथि को विवाह पंचमी कहते हैं। 

Credit:- Webdunia 

इस दिन भगवान राम और माता सीता का विवाह हुआ था. इस दिन को विवाह पंचमी के तौर पर मनाया जाता है। 

Credit:- HerZindagi 

हर साल विवाह पंचमी के दिन भगवान राम और माता सीता के विवाह की वर्षगांठ मनाई जाती है।इस साल विवाह पंचमी 17 दिसंबर 2023, रविवार को हैं 

Credit:- Bhaskar 

इस मौके पर अयोध्‍या और नेपाल में विशेष आयोजन किए जाते हैं. बड़ी संख्‍या में पूजन-अनुष्‍ठान होते हैं.

Credit:-ShareChat 

वैसे तो हिंदू धर्म में विवाह पंचमी के दिन को बेहद शुभ माना गया है क्‍योंकि यह मर्यादापुरुषोत्‍तम राम और माता सीता के विवाह का दिन है

Credit:- Bhaskar 

लेकिन भगवान श्रीराम को मिले 14 वर्ष के वनवास और उसके बाद हुई घटनाओं के कारण माता सीता को अपने जीवन में काफी कष्‍ट सहने पड़े थे.

Credit:- Sanatana Dhara 

यहां तक कि रावण वध के बाद अयोध्‍या वापस लौटने पर भगवान श्रीराम को माता सीता का परित्‍याग करना पड़ा था। माता सीता को अग्नि परीक्षा देनी पड़ी थी.

Credit:- Flipkart 

इन्‍हीं सब कारणों के चलते लोग इस दिन अपनी बेटियों को ब्‍याहना नहीं चाहते हैं कि कहीं उन्‍हें भी जीवन में कष्‍ट ना उठाना पड़े. इसी कारण विवाह पंचमी के दिन शादी नहीं की जाती है.