एंटरटेनमेंट

उत्तराखंड की ये 10 जगहें छुट्टियों में घूमने के लिए हैं बेस्ट, कर लें अपनी ट्रैवलिंग लिस्ट में शामिल

उत्तराखंड भारत के उत्तरी भाग में स्थित ऊँची पहाड़ियों से समृद्ध राज्य है। इस कारण से देशी-विदेशी लोग यहाँ पर सैर-सपाटा करने के लिए आते रहते है। इस राज्य (Uttarakhand) को आध्यात्मिक दृष्टि से भी मान्यता मिली है, इस कारण से इसका दूसरा नाम “देवभूमि’ भी है। यहाँ का विशाल हिमालयी क्षेत्र खूबसूरती एवं पवित्रता का दर्शाता है। प्रदेश के दो मुख्य भाग है – गढ़वाल एवं कुमाऊं।

ऋषिकेश

यह प्रदेश के पवित्र एवं सुन्दरतम पर्यटन स्थानों में से एक है। हिमालय की तलहटी में गंगा किनारे बसा है जिसके प्राचीन एवं भव्य मंदिर दुनियाभर में लोकप्रिय है। पर्यटकों को यहाँ पर पॉपुलर कैफ़े और आश्रम भी मिलते है। सरकार द्वारा पिछले कुछ सालों ऋषिकेश को देश के लोकप्रिय एडवेंचर स्पोर्ट्स सेण्टर के रूप में विकसित किया गया है। चूँकि यहाँ पर व्हाइट वाटर राफ्टिंग, फ्लाइंग फॉक्स, माउंटेन बाइकिंग, बंजी जंपिंग इत्यादि खेलों की व्यवस्था मिलती है।

हरिद्वार

राज्य के गढ़वाल क्षेत्र में हिन्दुओं की पवित्रतम गंगा नदी के किनारे बसा एक सुन्दरतम एवं प्राचीन शहर है। हरिद्वार का नाम ‘प्रभु के प्रवेश द्वार’ के रूप में रखा गया है। ध्यान दें यहाँ पर प्रत्येक वर्ष लाखों श्रद्धालु गंगा में स्नान एवं तीर्थों के भ्रमण के लिए आते है। कुम्भ मेले का आयोजन यहाँ पर भी होता है। कुम्भ भारत में मात्र 3 अन्य शहरों में ही होता है। यहाँ हर की पौड़ी घाट भी बहुत प्रसिद्ध है।शाम की आरती के लिए ‘ब्रह्मकुंड’ को अद्भुत मानते है।

नैनीताल

यह शहर उत्तराखण्ड राज्य का सबसे सुन्दरतम टूरिस्ट स्पॉट है, जो की पर्वतों के बीच बसा सूंदर पहाड़ी स्थल है। नैनीताल के केंद्र में एक आँखों के आकार की प्राकृतिक ताजा झील है, इसको “नैनी झील” के नाम से भी जानते है। हिल स्टेशन को चारो तरफ से बर्फीली विशाल चोटियों ने घेरा है। यहाँ पर नौका भ्रमण, पिकनिक और शाम की सैर की जाती है। नैनी झील को 7 मनमोहक चोटियों ने घेरा हुआ है।

देहरादून

प्रदेश की कैपिटल सिटी हिमालय की तलहटी में है और राज्य का पर्यटन स्थल है। पर्यटकों को शहर की प्राकृतिक खूबसूरती एवं शान्तिमय जीवन आराम का अवसर देता है। यहाँ पर पर्यटकों को झरने, गुफाएँ एवं प्राकृतिक झरने मिलते है। शारदा (हजार गुना वसंत) एक प्रसिद्ध केंद्र है। सहस्त्रधारा के नजदीक रोपवे आने वालो को मनमोहक दृश्य का आनंद देते है। यहाँ पर पर्यटन के आकर्षण यह है – रॉबर केव, मालसी डिअर पार्क, राजाजी नेशनल पार्क एवं भारतीय वानिकी अनुसंधान (FRI) इत्यादि है।

मसूरी

मसूरी एक ऐसा नाम है जिसे देश भर के सभी लोग हिल स्टेशन के रूप में अच्छे से जानते है। दुनियाभर के पर्यटक इसकी सुंदरता एवं विशेषताओं के कारण खीचे चले आते है। मसूरी को लोगों ने “पहाड़ों की रानी” नाम भी दिया है। यहाँ पर पर्यटक स्वच्छ एवम शांत जलवायु का अभूतपूर्व आनंद ले पाते है।

जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान

हिमालय की तलहटी में स्थित एक आकर्षक पार्क है, यह देश के सर्वाधिक पुराने राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है। इसकी स्थापना साल 1936 में हैली नेशनल पार्क के नाम से हुई थी। यहाँ पर रॉयल बंगाल टाइगर की प्रजाति को संरक्षण मिला हुआ है। इसके साथ ही लगभग 580 पक्षियों की नस्लों, 50 प्रजाति के पेड़ों एवं अन्य पशुओं की 50 किस्मों मौजूद है। ये पार्क करीब 500 से ज्यादा वर्ग मीटर के एरिया में स्थित है।

केदारनाथ

केदारनाथ यहाँ के शिव मंदिर, तीर्थ स्थान, हिमालयी पर्वतमाला एवं मनोहारी प्राकृतिक नजारो के लिए विश्व प्रसिद्ध है। केदारनाथ को मंदिर चोराबाड़ी ग्लेशियर एवं केदारनाथ की पर्वतचोटी ने घेरा हुआ है। केदारनाथ में बर्फीली चोटियों से साथ असंख्य पर्वतमालाएँ भी है। केदार मंदिर में भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग में से एक मंदिर है। मंदिर के पीछे केदारनाथ शिखर, केदार गुम्बद एवं हिमालय है।

उत्तरकाशी

शहर को हिन्दू शास्त्रों की कहानियों में सर्वाधिक पवित्रतम शहर में से एक बताया है। शहर एक धार्मिक विरासत, सुन्दर प्राकृतिक एवं खुशनुमा माहौल से पटा है। इसका नाम देवभूमि भी है, यहाँ से यमुनोत्री एवं गंगोत्री तीर्थयात्रा का एंटी पॉइंट भी माना जाता है। यह पर प्राकृतिक मनमोहक दृश्य तो है ही साथ ही मजेदार ट्रैकिंग रास्ते भी है। बर्फीली पहाड़ियाँ, घाटी, हरे अल्पाइन जंगल इस जगह को स्वर्ग जैसा बनाते है।

यह भी पढ़ें :- One Night In Jail: ‘जेल की हवा खानी है? तो उत्तराखंड चले आइये, इस जेल प्रशासन ने लोगों के लिए बनाया अनोखा ऑफर

बद्रीनाथ

बद्रीनाथ समुद्री तल से 3,100 मीटर की ऊँचाई अलकनंदा नदी के किनारे पर स्थित धाम है। पर्यटकों को यहाँ पर बहुत से ट्रेक रास्ते मिलते है और यह पर्वत अभियानों के लिए लोकप्रिय है। बद्रीनाथ का मंदिर सर्वाधिक आकर्षण का केंद्र है जो भगवान विष्णु के लिए बनाया है। यहाँ पर 3 प्रमुख झरने भी है – तप्त कुंड, सूरज कुंड, नारद कुंड। दिन के ढलते ही गरम सल्फर वाले पानी का ताप बढ़ता है और इसमें स्नान करने से त्वचा के रोग सही होते है।

औली

यह प्रदेश के सुन्दरतम स्थानों में से एक है। यहाँ पर छत्रकुंड झील, नंदा देवी , पार्क एवं ज्योतिमठ आदि दर्शन योग्य स्थान है। यहाँ पर प्राकृतिक दृश्य एअव्म विचित्र शंकुधारी जंगल है। ये जगह हिमालय हिल स्टेशन एवं स्की रिसोर्ट में ओक के जंगलों के लिए प्रसिद्ध है। यह एक महान हनीमून स्पॉट और दुनिया के लिए अच्छी स्कीइंग जगह भी है। 4 किमी की दुरी तय करने वाली केबल कार एशिया में दूसरे स्थान पर आती है।

सम्बंधित खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
सिंगर जुबिन नौटियाल का हुआ एक्सीडेंट, पसली और सिर में आई गंभीर आई Jubin Nautiyal Accident Salman Khan Ex-Girlfriend Somy Ali :- Salman Khan पर Ex गर्लफ्रेंड सोमी अली ने लगाए गंभीर आरोप इन गलतियों की वजह से अटक जाती है PM Kisan Yojana की राशि, घर बैठें कराएं सही Mia Khalifa होंगी Bigg Boss की पहली वाइल्ड कार्ड कंटेस्टेंट Facebook पर ये पोस्ट करना पहुंचा देगा सीधे जेल!