स्पोर्ट्स

FIFA WC: मूकोको सबसे युवा तो अल्फ्रेडो सबसे उम्रदराज, जानें फीफा विश्व कप में खिलाड़ियों से जुड़े रोचक तथ्य

भारत में भी बहुत से लोगों को फीफा के महाकुम्भ यानी FIFA WC का बेसब्री से इंतजार रहता है। फुटबॉल का ये वर्ल्ड कप चार सालों में एक बार करवाया जाता है। इस बार के फीफा विश्व कप से जुड़े कुछ हैरान एवं चकित करने वाले खिलाडियों के फैक्ट है। इन तथ्यों को जानने के बाद हर कोई हैरानी और ख़ुशी महसूस करता है।

फीफा वर्ल्ड कप के शुभारम्भ होने में चंद घंटों का ही समय बचा है। फुटबॉल के महाकुम्भ (FIFA WC) का शुरुआत 20 नवंबर के दिन होगी। कप के पहले ही मुकाबले में मेजबान कतर और इक्वाडोर की भिड़ंत होगी। फीफा कप का आयोजन पहली बार अरब देशों में हो रहा है। इस बार के वर्ल्ड कप में कुल 32 टीमें मैदान पर उतारेगी। इन टीमों को 4-4 टीमों के आठ ग्रुप में बाँटा गया है। इन आठों ग्रुप्स में से 2-2 टीमों को नॉकआउट राउंड मतलब राउंड ऑफ-16 में जगह मिलेगी। इस बार के फीफा वर्ल्ड कप में खेलने वाले खिलाड़ियों को लेकर कुछ रोचक बातें सामने आ रही है, जिन्हे हर कोई जानकर हैरानी महसूस करेगा।

सर्वाधिक उम्रदराज़ प्लेयर – अल्फ्रेडो तलवेरा

इस बार के वर्ल्ड कप में बहुत सी टीम अनुभव को भी प्रमुखता दे रही है। किसी टीम के सबसे ज्यादा उम्र के खिलाडियों की सूची में सबसे ऊपर 40 वर्ष के अल्फ्रेडो तलवेरा (alfredo talavera) का नाम है। वे क्लब लेवल पर FC Juarez टीम के लिए खेलते रहे है। वे इस बार के कप में सबसे दिग्गज खिलाडी है। इसी क्रम में उन्ही की टीम के साथी खिलाडी गोलकीपर गुलेरमो ओचोआ (37) भी शामिल है। इसी तरह और भी उम्रदराज़ खिलाडी है – ब्राजील के डैनी एल्वेस (39), ब्राजील के ही टीएलो सिल्वा (38), क्रोएशिया के लुका मॉड्रिच (37)

सर्वाधिक युवा प्लेयर – युसुफ़ा मुकोको

इस बार के फीफा कप को जितने वालो में जर्मनी का नाम भी शामिल है। इस बार की टीम में नए और अनुभवी प्लेयर्स का अच्छा तालमेल बैठने का प्रयास हुआ है। किन्तु टीम में दो ऐसे नवयुवक खिलाडी भी है जिनको लेकर सभी लोगों में उम्मीदें जोरो पर है। इन दोनों खिलाडियों के नाम जमाल मुसियाला (18 वर्ष) एवं युसुफ़ा मुकोको (17 वर्ष) है। इतनी कम उम्र में फीफा वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा बनने के बाद युसुफ़ा को कप का सर्वाधिक युवा खिलाडी का ख़िताब मिला है। इस समय वे जर्मनी की टीम के सबसे उभरते सितारे के रूप में प्रसिद्ध हो रहे है। उन्होंने बुंडेसलीगा में इस बार के सत्र में अच्छा खेल दिखाया है।

सर्वाधिक कम ऊँचाई वाला प्लेयर – इलायस केयर

इस बार के कप में मोरक्को की टीम दूसरी टीमों को चौका सकती है। इस बात के अलावा भी टीम पर दूसरी बात को लेकर चर्चा है, वह यह है कि टीम में 10 नंबर की जर्सी पहने इलायस केयर को फीफा कप के सबसे कम हाइट के खिलाडी के तौर पर जाना जाता है। उनकी ऊंचाई मात्र 5 फुट 2 इंच है, किन्तु वो अपनी कम ऊँचाई के बावजूद भी विरोधी टीम को हैरान और परेशान करने में महारत रखते है। वे खेल के दौरान अपनी स्पीड और स्किल के लिए विख्यात है। उनके अद्वितीय टैलेंट को देखते हुए ही उनको टीम ने नंबर 10 जर्सी दी है।

सर्वाधिक ऊँचाई वाला प्लेयर

नीदरलैंड के गोलकीपर इस विश्वकप के सबसे ऊँचे खिलाडी है। उन्हें लुईस वान गाल की टीम में जगह दी गयी है। उन्होंने अपने क्लब हीरेनवीन के लिए अच्छा खेल दिखाया है। अपने क्लब के लिए 14 मैचों में उन्होंने 6 अच्छे सेव किये है। नीदरलैंड को अपने इस खिलाडी के अच्छे प्रदर्शन पर बहुत निर्भर होना होगा। यदि अपने क्लब के प्रदर्शन को वो विश्व कप में जारी करते है तो नीदरलैंड की टीम को काफी फायदा होने वाला है।

सर्वाधिक मैच खेलने वाला प्लेयर

मशहूर फुटबॉलर लियोनल मेसी पर सभी दर्शकों की निगाहें टिकी होंगी। वह अपनी टीम और इस विश्व कप के स्टार प्लेयर है। ये उनका (Lionel Messi) आखिरी विश्वकप होने जा रहा है। इस वजह से वह अपनी टीम की झोली में ट्रॉफी को डालने की पूरी कोशिश करेंगे। मेसी ने पहली बार साल 2006 में फीफा विश्व कप में भागीदारी की थी। अब वो अपने जीवन का 5वां विश्वकप खेलने जा रहे है। मेसी ने वर्ल्ड में 19 मैचों को खेलकर एक बेहतरीन रिकॉर्ड अपने नाम किया है। इसके अलावा वो अपनी टीम के सबसे अधिक मैच खेल चुके है। अभी तक मेसी ने अर्जेंटीना के लिए 165 मैचों में खेलकर 91 गोल दागे है।

यह भी पढ़ें :- <strong>Who is MC Square: एमसी स्क्वायर का असली नाम क्या है, जानें MC Square की जर्नी के बारे में</strong>

सर्वाधिक गोल और असिस्ट

जर्मनी के स्टार फॉरवर्ड थॉमस मूलर को इस बार के विश्व कप में सबसे अधिक गोल और असिस्ट करने का रिकॉर्ड मिला हुआ है। अभी तक वो इस टूर्नामेंट में 10 गोल और 6 असिस्ट कर चुके है। उन्हें जर्मनी की टीम में ‘रेडियो मूलर’ के नाम से भी जानते है। ये मैदान पर काफी चालाक प्लेयर के तौर प्रसिद्ध है। वो इस बार के विश्व कप में विरोधी टीम के लिए खतरनाक खिलाडी साबिक हो सकते है। मूलर ने साल 2014 में फीफा कप को जीतने में टीम में काफी अहम रोल निभाया था। उनके अद्वितीय प्रदर्शन के लिए उनको ‘सिल्वर बॉल’ का अवार्ड भी मिला था।

सम्बंधित खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
सिंगर जुबिन नौटियाल का हुआ एक्सीडेंट, पसली और सिर में आई गंभीर आई Jubin Nautiyal Accident Salman Khan Ex-Girlfriend Somy Ali :- Salman Khan पर Ex गर्लफ्रेंड सोमी अली ने लगाए गंभीर आरोप इन गलतियों की वजह से अटक जाती है PM Kisan Yojana की राशि, घर बैठें कराएं सही Mia Khalifa होंगी Bigg Boss की पहली वाइल्ड कार्ड कंटेस्टेंट Facebook पर ये पोस्ट करना पहुंचा देगा सीधे जेल!