न्यूज़

ब्रिटेन के शाही परिवार में एक युग का अंत, क्वीन एलिजाबेथ-II के निधन के बाद चार्ल्स बने नए राजा

ब्रिटेन की महारानी एलिज़ाबेथ एलेक्जेंड्रा मैरी (द्वितीय) (Elizabeth-II) की मृत्यु हो गयी है, वे 96 वर्ष थी। पिछले कुछ समय से उनका स्वास्थ्य ख़राब था और वे डॉक्टर्स की देखरेख में थी। उनके अंतिम दिनों में वे स्कॉटलैंड के बाल्मोरल कैसल में अपने बेटे प्रिंस चार्ल्स बाल्मोरल के साथ थी। अब अपनी माता की मृत्यु के बाद प्रिन्स चार्ल्स (Prince Charles) ही ब्रिटेन के अगले राजा होने वाले है। ब्रिटेन की महारानी के निधन के बाद एक युग का अंत हो गया है। उनके निधन की खबर ने विश्व बिरादरी को स्तब्ध कर दिया है।

एलिजाबेथ-II निधन

एलिज़ाबेथ द्वितीय को विश्व की सबसे लम्बे समय तक शासन करने वाली शाही हस्ती माना जाता है। उन्होंने 70 साल और 211 दिनों तक ब्रिटिश साम्राज्य पर शासन किया। वे साल 1952 में गद्दी पर काबिज़ हुई थी और इस पर रहते हुए अद्वितीय सामाजिक बदलाव की प्रत्यक्षदर्शी रही है। उनकी मृत्यु के बाद, उनके बड़े बेटे और 14 राष्ट्रमंडल क्षेत्रों के मुखिया प्रिंस चार्ल्स अंतिम संस्कार और श्रद्धांजलि कार्यक्रम का नेतृत्व करेंगे।

  • पीएम मोदी ने महारानी के निधन पर शोक जताकर श्रद्धांजलि दी है।
  • बेटे किंग चार्ल्स ने कहा – प्यारी माँ की मृत्यु उनके और परिवार के लिए ‘बहुत का क्षण’ था।
  • 21 अप्रैल 1926 के दिन महारानी एलिज़ाबेथ जन्मी थी।
  • 70 वर्षो के शासनकाल ब्रिटेन के 15 प्रधानमंत्रियों को देखा।

राज महल के अधिकारियों के अनुसार अब महाराजा चार्ल्स तृतीय को ब्रिटेन के नए राजा के रूप में जाना जायेगा। चार्ल्स के दो भाई (प्रिंस एंड्र्यू और प्रिंस एडवर्ड) और एक बहन प्रिंसेस है। पीएम मोदी ने उनके निधन पर कहा – ‘महारानी अपने पुरे कार्यकाल में प्रेरणा की स्त्रोत बनी रही। उन्होंने पूरी गरिमा और मर्यादा के साथ दायित्वों का निर्वहन किया।’

यह भी पढ़ें: अब शादीशुदा लोग बन जाएँगे मालामाल, ये स्कीम आपको सालाना देगी 54,0000 रूपये, जाने पूरी खबर

1953 में राज्याभिषेक हुआ था

साल 1951 में जॉर्ज VI की तबियत ख़राब होने लगी और एलिज़ाबेथ ने सार्वजानिक कार्यक्रमों में जाना शुरू कर दिया। 6 फरवरी में किंग जॉर्ज का लम्बी बीमारी के बाद देहांत हो गया। इसके बाद एलिज़ाबेथ II ब्रिटेन की महारानी बन गयी और उन्हें राष्ट्रमंडल की रानी घोषित कर दिया गया। 2 जून 1953 में उनका आधिकारिक रूप से राज्याभिषेक कर दिया गया।

राज्याभिषेक का दूरदर्शन पर प्रसारण

महारानी का पदभार सम्हालते समय उनका राजयभिषेक समारोह ऐसा पहला राजयभिषेक था जिसको दूरदर्शन पर प्रसारित किया गया था। राज्याभिषेक के बाद वे स्वतंत्र देशों यूके, पकिस्तान अभिराज्य, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, कनाडा, साउथ अफ्रीका एवं सीलोन की शासक रानी रही। साल 1956 से 1992 तक बहुत से देशों को आजादी मिलने से उनकी रियासतों की संख्या कम होने लगी।

चार्ल्स महाराजा और कैमिला ‘रानी’ होगी

ब्रिटेन (Britain) के शाही परिवार के नियमानुसार चार्ल्स पद पर आने के बाद अपना नाम बदलेंगे। शाही परिवार के एक अन्य नियम के अनुसार महाराजा की पत्नी स्वतः ही महारानी कहलाती है। इस प्रकार से चार्ल्स की पत्नी महारानी कमिला महारानी बन जाएगी। प्लैटिनम जुबली के मौके पर एलिज़ाबेथ ने कहा था – जब चार्ल्स किंग बनेंगे तो कैमिला रानी बनेगी। चार्ल्स गाड़ियों के शौकीन है, वे एक लाजवाब गाड़ी का कलेक्शन रखते है। साथ ही एक पर्यावरण प्रेमी होने के कारण उनकी गाडी वाइन से चलती है।

राजा बनने का नहीं सोचा था – प्रिंस चार्ल्स

एक पूर्व सहयोगी के अनुसार प्रिंस चार्ल्स कभी भी महाराजा बनने की नहीं सोचते थे। इसका कारण था, उनकी माता की मृत्यु। लेकिन चिकित्सकों की चिंता के बाद किसी अनहोनी होने की सम्भावना लगने लगी। अब सदियों से चले आ रहे प्रोटोकॉल के अनुसार चार्ल्स यूनिटेड किंगडम के अगले सम्राट होंगे। चार्ल्स को बहुत सी परंपरा को पूरा करने के बाद ही राजा का ताज मिलेगा।

सम्बंधित खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button