न्यूज़

Diwali 2022: दिवाली कब है? इस बार बन रहे हैं कई शुभ संयोग, जानें लक्ष्मी पूजन का सटीक समय

24 अक्टूबर के दिन प्रकोष काल में अमावस्या तिथि पड़ रही है। इस दिन निशित काल में भी अमावस्या तिथि रहेगी। इस कारण से 24 अक्टूबर के दिन ही पुरे देश में दीवाली के त्यौहार को मनाया जा रहा है।

हमारे देश में दीपावली का त्यौहार बड़ी ख़ुशी और उल्लास के साथ मनाने की परम्परा रही है। यह दीपो, मिठाई और पटाखों का त्यौहार है जो पुरे 5 दिनों तक मनाया जाता है। दीवाली का त्यौहार अपने आप में जितना जरुरी है उतना ही इसकी तिथि और पूजन का सटीक समय भी बहुत जरुरी हो जाता है। Diwali 2022 में बहुत से शुभ संयोग बन रहे है, जानें लक्ष्मी पूजन के लिए सही समय।

इस साल में दीवाली का त्यौहार 24 अक्टूबर, 2022 में सोमवार के दिन पड़ रहा है। दीवाली में मुख्यतः गणेशजी (Ganeshji) के पूजन की परम्परा है। शास्त्रों के अनुसार इसी दिन माता लक्ष्मी (Mata Lakshmi) सबके घरों में आशीर्वाद देने के लिए आती है। इस दिन सही समय पर माता लक्ष्मी की पूजा विधिवत तरीके से करने पर भक्तों की सारी मनोकामना पूर्ण हो जाती है। इस त्यौहार को ‘दीप उत्सव’ के नाम से पुकारते है। यह त्यौहार भारत में विशेष मान्यता रखता है इस कारण से इसके बौद्ध, जैन और सिख धर्म के लोग भी श्रद्धाभाव से मनाते है। जैनी लोग दिवाली के दिन को 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर के मोक्ष दिवस के रूप में मानते है।

दिवाली का महत्त्व

शास्त्रों के अनुसार इस दिन भगवान राम ने लंका के राजा रावण को हराकर जीत प्राप्त की थी। इसी दिन वे अपना 14 सैलून का वनवास भी पूर्ण करके अपने घर अयोध्या वापिस लौटे थे। दीवाली के दिन माता लक्ष्मी और गणेशजी की पूजा करने का विधान है। मान्यता है कि इस दिन पर विधिवत पूजन करने से सुख-समृद्धि, धन-सम्पदा

दीवाली का शुभ मुहूर्त क्या है?

इस साल 24 और 25 अक्टूबर दोनों ही तारीखों पर अमावस्या तिथि है। किन्तु 25 अक्टूबर के दिन अमावस्या तिथि प्रदोष काल से पहले ख़त्म हो जाने वाली है। 24 अक्टूबर के दिन प्रकोष काल में अमावस्या तिथि होने वाले है। इस दिन निशित काल में भी अमावस्या तिथि रहेगी। इस कारण से 24 अक्टूबर के दिन ही पुरे देश में दीवाली के त्यौहार को मनाया जा रहा है। 23 अक्टूबर, रविवार के दिन त्रियोदशी तिथि शाम 06:04 बजे तक रहने वाली है। इसके बाद चतुर्दशी तिथि आरम्भ हो जाएगी। चतुर्दशी तिथि 24 अक्टूबर, सोमवार को शाम 5:28 बजे ख़त्म हो रही है। मंगलवार यानी 25 अक्टूबर की शाम 4:19 बजे तक अमावस्या रहेगी।

दिवाली पर लक्ष्मी पूजन का समय  मुहूर्त

लक्ष्मी पूजन समय मुहूर्त :– 24 अक्टूबर शाम 06:53 से रात 08:16 तक

  • पूजा अवधि : 1:21 घंटा
  • प्रदोष काल : शाम 6:43 बजे से शाम 8:16 बजे तक
  • वृषभ काल : शाम 6:54 बजे से शाम 8:50 बजे तक

यह भी पढ़ें :- karwa chauth 2022: पहली बार रख रहे हैं करवा चौथ का व्रत तो इन बातों का रखें ध्यान, नोट कर लें पूजा- विधि और सामग्री की पूरी लिस्ट

दिवाली का शुभ संयोग

ज्योतिषी गणना के हिसाब से इस वर्ष दिवाली 24 अक्टूबर के दिन पड़ रही है। इसके बाद 26 अक्टूबर के दिन बुध ग्रह तुला राशि में प्रवेश कर जायेगा। यहाँ पर पहले से सूर्य, शुक्र और केतु ग्रह पहले से स्थित होंगे। जिससे तुला राशि में विशेष संयोग बनने वाला है। दिवाली से एकदम पहले मंगल मिथुन राशि में प्रवेश कर जायेगा और शनि मकर राशि में मार्गी होंगे। इस प्रकार के शुभ संयोग और ग्रह दशा बहुत सी राशियों के व्यक्तियों को विशेष लाभ दे सकते है।

सम्बंधित खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
सिंगर जुबिन नौटियाल का हुआ एक्सीडेंट, पसली और सिर में आई गंभीर आई Jubin Nautiyal Accident Salman Khan Ex-Girlfriend Somy Ali :- Salman Khan पर Ex गर्लफ्रेंड सोमी अली ने लगाए गंभीर आरोप इन गलतियों की वजह से अटक जाती है PM Kisan Yojana की राशि, घर बैठें कराएं सही Mia Khalifa होंगी Bigg Boss की पहली वाइल्ड कार्ड कंटेस्टेंट Facebook पर ये पोस्ट करना पहुंचा देगा सीधे जेल!