एंटरटेनमेंट

दिल्ली के 10 पर्यटन स्थल जहाँ आपको छुट्टियों के दौरान आना चाहिए!

नीचे दिल्ली के 10 पर्यटन स्थल की जानकारी है जहाँ आपको छुट्टियों के दौरान आना चाहिए।

दिल्ली (Delhi) हमारे देश की राजधानी तो है साथ ही हमारे इतिहास एवं मॉडर्नाइजेशन का सेण्टर भी है। यहाँ पर मुग़ल कालीन इमारते देखी जा सकती है। दिल्ली में बहुत से ऐतिहासिक, धार्मिक और प्राकृतिक पर्यटन स्थान है। जिनको घूमकर कोई भी आनंदित हो जाता है।

अक्षरधाम मंदिर

दुनिया का सर्वाधिक बड़ा हिन्दू मंदिर आपको आश्चर्य एवं प्रसन्नता से विभोर कर देगा। स्वामीनारायण मंदिर के अंदर भ्रमण करने के दौरान आप इसके हर एक कोने की प्रशंसा किये बिना ना रह सकेंगे। यह (Akshardham Temple) दिल्ली का सबसे नामी पर्यटन स्थल है। यहाँ पर आने वाले सैलानी कुछ देर के लिए ही सही अपनी दुनिया को भूल जाते है। यह मंदिर कई भागों में बना हुआ है जिसमें नौका विहार, सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं शाम का वॉटर शो सम्मिलित है। प्रातः 9:30 बजे से शाम 6:30 बजे तक आप यहाँ घूमकर आनंदित हो सकते है।

दिल्ली का लाल किला (Red fort)

दिल्ली में स्थित लाल किला शहर का ऐसा प्रसिद्ध पर्यटक स्थान है जो देश के साथ विदेशों में भी प्रसिद्ध है। लाल किला अपना ऐतिहासिक महत्व रखता है। यह (Red fort) किला मुग़ल बादशाह शाहजहाँ ने बनवाया था। लाल किले में झूमने के लिए बहुत सी जगह है। यहाँ पर पर्यटक खास महल, रंग महल, शाह बुर्ज, दीवाने खास, मोती मस्जिद, हीरा महल, पुरातन संग्रहालय, दिल्ली गेट, नेताजी सुभाष चन्द्र बॉस संग्रहालय, स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय, इंडिया फर्स्ट वॉर ऑफ म्यूजियम। इन जगह पर आप एंट्री टिकट लेकर भ्रमण का आनद ले सकते है।

इण्डिया गेट

देश के सैनिकों के प्रथम विश्व युद्ध में शहादत की याद में इंडिया गेट को बनाया गया है। यह राष्ट्रपति भवन के एकदम सीध में है। यदि कोई व्यक्ति दिल्ली में घूमने के लिए आया हो तो वह इस जगह को भूल नहीं सकता है। पुरे साल 24 घण्टे यहाँ पर जलती हुई जवान ज्योति शहीद वीरों की कहानी की याद दिलाती रहती है। आप भी अपने दिल में देश प्रेम की भावना को महसूस करते हुए इस ज्योति के साक्षी बन सकते है। इसके इर्द-गिर्द का बगीचा और हर समय होने वाली चहल-पहल पर्यटकों को अपनी ओर खींचती है।

राष्ट्रपति भवन

नाम से जाना जा सकता है कि देश के राष्ट्रपति इस भवन में रहते है। यह भवन दुनिया के सबसे बड़े निवास भवन के से एक के रूप में विख्यात है। भवन को लगभग 340 एकड़ क्षेत्रफल में बनाया गया है। इसको (Rashtrapati Bhavan) साल 1912 से शुरू होकर साल 1929 में बनकर तैयार हुआ था। इसको सर एडविन लुटियन ने बनाया था। यहाँ पर लगभग 340 कमरे है और 700 से भी ज्यादा कर्मचारी रहते है। यहाँ पर लगभग 110 लोग बड़ी सुविधा से बैठ सकते है।

क़ुतुब मीनार

यह दिल्ली की ऊँची इमारतों में से एक है जो कि शासक कुतुबुद्दीन ऐबक ने बनवाया था। ये भारत में ईरानी वास्तुकला का अच्छा नमूना माना जाता है। ध्यान रहे UNESCO ने भी इस मीनार को विश्व विरासत स्थल में शुमार किया है। यह दिल्ली का नामचीन पर्यटन स्थान है जिसके पास ही एक लौह स्तम्भ भी है। इसकी विशेषता यह है कि इस पर अभी तक जंग नहीं लगा है। यह अपनी हरियाली के लिए लोगों की पिकनिक का स्थल बन चुका है।

छत्तरपुर मंदिर

यह मंदिर दक्षिणी दिल्ली में एक आध्यात्मिक केंद्र के रूप में प्रसिद्ध है। यहाँ पर भक्तों के लिए शिव-पार्वती, राधा-कृष्ण, हनुमान, लक्ष्मी आदि बहुत से देवी-देवताओं की मूर्तियाँ है। यदि आपकी रूचिधर्म में है तो आप यहाँ आकर अपनी भक्ति भाव में खो सकते है। 70 एकड़ क्षेत्र में फैला यह मंदिर देवी कात्यायनी को मुख्यतया समर्पित है। यह अपने आप में वास्तुकला का अच्छा नमूना है।

जंतर मंतर

इसको राजा सवाई जयसिंह ने 17 से 24 ईस्वी में बनवाया था। इसके अलावा राजा ने जयपुर में भी जंतर-मंतर बनवाया है। इसको समय एवं ग्रहों की गति का पता लगाने के लिए तैयार करवाया गया था। यहाँ पर 13 आर्किटेक्ट इकोनॉमी उपकरण देखने को मिलते है। ये सूरज की सहायता से सभी ग्रहों की खास जानकारी दे देते है। यहाँ बहुत से उपकरण है जैसे राम यंत्र से खोली पिंडों की जानकारी मिल जाती है। यहाँ पर टिकट लेकर आप सैर का लुप्त ले सकते है।

यह भी पढ़ें :- उत्तराखंड की ये 10 जगहें छुट्टियों में घूमने के लिए हैं बेस्ट, कर लें अपनी ट्रैवलिंग लिस्ट में शामिल

फेमस लोटस टेम्पल

यदि आप दिल्ली के भ्रमण पर है और आपने दिल्ली का फेमस लोटस टेम्पल नहीं देखा है तो आप सबसे आकर्षित जगह को नहीं देख पाए है। लोटस टेम्पल एक सफेद कमल की तरह दिखता है। एकदम फूल के आकार के दिखने वाला यह टेम्पल नेहरू प्लेस में मौजूद है। यह मंदिर साल 1986 में बनवाया गया था। विशेष बात यह है कि इसके अंदर किसी प्रकार की मूर्ति नहीं है और ना ही यहाँ पर कोई पूजा होती है। यह एक बहाय पूजा का मंदिर है।

बेस्ट टू वंडर पार्क

इस पार्क के बारे में बहुत कम ही लोगो को जानकारी है। इस पार्क की विशेषता यह है कि यहाँ सैलानियों को एक ही स्थान पर दुनिया के 7 अजूबे देखने को मिल जाते है। इसी वजह से इसका नाम ‘बेस्ट टू वंडर पार्क’ दिया गया है। ये पार्क आपको दिल्ली के सराय काले खां में मिलेगा। यहाँ आपको पीसा की मीनार, मिस्र के पिरामिड, ताजमहल आदि अजूबों को एक ही जगह देखने का मौका मिलता है। सबसे खास बात तो यह है कि इस पार्क के अजूबों को कबाड़ से निर्मित किया गया है। यहाँ 3 से 12 साल के बच्चों पर मात्र 25 रुपए का टिकट लगता है। वयस्को को 50 रुपए का टिकट लेना होता है और 65 वर्ष से ज्यादा उम्र के नागरिकों को कोई टिकट नहीं लेना है।

हुमायूँ का मकबरा

कई सौ वर्षों के बाद भी अपनी खूबसूरती को कायम रखने वाला यह स्थल हुमायुँ की पत्नी हाजी बेगम के द्वारा निर्मित किया गया था। लाल पत्थर एवं संगमरमर से निर्मित यह मकबरा मुग़ल वास्तुकला का एक नमूना है। यहाँ पर हुमायुँ के साथ कुछ खास मुग़ल सदस्यों की समाधि बनाई गयी है। ऊँची पत्थर की सीढ़ी, विशाल कलात्मक दरवाजे पुराने समय की सुंदरता को दर्शाते है। चारों और हरी घास एवं घने पेड से घिरे चबूतरे देखने वालों को आकर्षित करते है।

सम्बंधित खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Kartik Purnima 2022: कब है कार्तिक पूर्णिमा? यहां जानें सही डेट, JNVST Admission 2023: नवोदय विद्यालय कक्षा 6 के रजिस्ट्रेशन विधवा पेंशन योजना 2022: Vidhwa Pension ऑनलाइन आवेदन New CDS of India Anil Chauhan: जानिए कौन हैं अनिल चौहान