न्यूज़

‘बायकॉट ट्रेंड’ (Boycott Trend) पर स्‍वरा भास्‍कर ने की राहुल गाँधी से बॉलीवुड की तुलना, कहा- ‘पप्पू जैसी हुई हालत’

हाल के कुछ वर्षों में बॉलीवुड अपना बुरा दौर देख रहा है। बड़े स्टारों की बड़े बजट की फिल्मे भी बॉक्स ऑफिस पर ख़ास काम नहीं दिखा पा रही है। बहुत से स्टार अपनी फिल्मों की नाकामी पर ‘सोचने’ की बात कह रहे है। बीते दिनों में कुछ हिंदी फिल्मों को लेकर ‘बॉयकॉट ट्रैंड’ ख़बरों का हिस्सा बना हुआ है। इसी बीच अभिनेत्री स्वरा भास्कर (Swara Bhaskar) ने बॉलीवुड के हालात के कुछ कारणों पर बातें रखी। अभिनेत्री के अनुसार सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु ने फिल्म इंडस्ट्री की बुरी छवि लोगों के मन में आ गयी है। स्वरा के अनुसार यह वैसे ही हालत है जैसे कांग्रेस लीडर राहुल गाँधी के साथ हुए यह।

ट्विटर पर ‘बॉयकॉट ट्रैंड’ से लाल सिंह चड्डा, रक्षा बंधन और दोबारा जैसी मूवीज को बहिष्कार झेलना पड़ा है। इस कारण से यह बॉक्स ऑफिस पर बेकार साबित हुई। अपने इंटरव्यू में स्वरा ने निर्देशक अनुराग कश्यप की बात से सहमति जताई है कि देश में मंदी के माहौल के कारण लोगों के पास फिल्म देखने जैसी लग्जरी चीज के पैसे नहीं है।

यह भी पढ़ें:- दक्षिण सिनेमा बनाम बॉलीवुड बहस पर वरुण तेज बोले, ‘सब कुछ सामग्री पर निर्भर करता है’

यहाँ हो रहा ‘पप्पूकरण’ – स्वरा भास्कर

स्वरा अपनी बातों में बॉलीवुड की तुलना नेता राहुल गाँधी से कर रही है। उनके अनुसार यह स्थिति राहुल गाँधी जैसी है जहाँ हर कोई उन्हें ‘पप्पू’ कहने लगे। अभिनेत्री के अनुसार – उन्हें हर कोई पप्पू कहने लगा, इस वजह से लोगों को इस पर भरोसा होने लगा। जबकि उनके अनुसार वह जब भी राहुल से मिली हैं तो वह एक होशियार व्यक्ति लगे। अब बॉलीवुड का ऐसा ही ‘पप्पूकरण’ हो रहा है। swara bhaskar on boycott trend

  • स्वरा भास्कर जल्दी ही फिल्म ‘जहाँ चार यार’ दिखेगी।
  • उनके अनुसार बॉलीवुड का ‘पप्पूकरण’ हो रहा है।

बॉलीवुड’ मतलब शराब, ड्रग्स

स्वरा भास्कर ने अपने इंटरव्यू में अभिनेता सुशांत सिंह राजपुत को याद करते हुए कहा कि उनकी (Shushant Singh Rajput) की मृत्यु भी इन ख़राब हालातों के लिए कारण है। उनके अनुसार सुशांत की मृत्यु के बाद लोगों से सामने बॉलीवुड का स्याह चेहरा आ गया। अब बॉलीवुड को लेकर यही सोचा जाता है कि यह ऐसी जगह है जहाँ सिर्फ शराब, ड्रग्स और सेक्स ही हो रहा है।

सम्बंधित खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button