न्यूज़

हार्ट अटैक आने से फेमस सिंगर केके का हुआ निधन

लोकप्रिय गायक कृष्णकुमार कुनाथ (केके) का कल रात दिल का दौरा पड़ने से अचानक निधन हो गया। उनकी उम्र 53 वर्ष की थी। निधन से पहले वे कोलकाता में लाइव कॉन्सर्ट करके अपने होटल लौटे थे ,जहां उन्होंने बेचैनी की शिकायत की। फिर उन्हें रात करीब साढ़े दस बजे कलकत्ता मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीएमआरआई) ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। केके के अचानक इस तरह चले जाने से उनके फैंस और पूरा सिनेमा जगत दुख में है।

अत्यधिक पसीना आना गंभीर हृदय समस्याओं का कारण

केके
केके

रिपोर्ट्स की मानें तो केके काफी गर्मी महसूस कर रहे थे और उन्होंने आयोजकों से उन पर रोशनी कम करने के लिए भी कहा था, जिससे गर्मी कम हो सके। हृदय रोग विशेषज्ञ बताते हैं, ज्यादा पसीना आना अधिक गर्मी के प्रति शरीर की स्वाभाविक प्रतिक्रिया होती है। जिन लोगों को अचानक बैचनी या अधिक पसीना आने की समस्या होने लगती है, उन्हें समस्या को ट्रिगर करने वाली स्थितियों से बचाव करते रहना चाहिए, यह हार्ट अटैक का संकेत हो सकता है।

केके के निधन से सब ग़मगीन

सिंगर के केके के निधन के बार पूरा सिनेमा जगत, सहित दुनियाभर में उनके तमाम फैन्स शोकाकुल हैं। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने भी केके के लिए अपनी हार्दिक संवेदना व्यक्त की है। इसके अलावा मनोरंजन जगत के तमाम लोग भी उनके इस असमय मृत्यु के दुख में हैं। केके के फैन भी बेहद दुखी है और लाखों लोग उन्हें सोशल मीडिया पर याद करते हुए श्रद्धांजलि दे रहे हैं। लेकिन ध्यान देने वाली बात ये है कि केके कथित तौर पर कोलकाता के नजरूल मंच में एक कार्यक्रम में प्रस्तुति के दौरान अस्वस्थ महसूस कर रहे थे, जो कि हार्ट अटैक का संकेत हो सकता था।

हार्ट अटैक के संकेतों को ना करें नज़रअंदाज

केके
केके

 

रिपोर्ट्स के मुताबिक, परफॉर्मेंस खत्म होने के बाद अपने होटल के कमरे में पहुंचने के बाद उन्हें बेचैनी महसूस हुई। बाद में वह गिर पड़े। बेचैनी दिल के दौरे के सबसे आम लक्षणों में से एक है जिसे नजरअंदाज किया गया। यही गलती आमतौर पर ज्यादातर लोग करते हैं। ऐसे में जरूरी है कि आप हार्ट अटैक के शुरुआती संकेतों को जानें और इसे समय रहते पहचान लें, ताकि ये जानलेवा ना बन जाए।

दिल का दौरा एक मेडिकल इमरजेंसी की स्थिति है जिसमें ब्लॉकेज के अनाचक से ब्लड सर्कुलेशन रूक जाता है और हार्ट अटैक आ जाता है। केके 53 साल की उम्र में ही हार्ट अटैक के शिकार हो गए और यही आज कल आम होता जा रहा है। दरअसल, कम उम्र में हार्ट अटैकआने के पीछे एक बड़ा कारण खराब लाइफस्टाइल, नींद, स्ट्रेस और खराब डाइट है। जिससे कोरोनरी धमनियों में वसा, कोलेस्ट्रॉल और अन्य पदार्थों के निर्माण होने लगता है और यही फिर ब्लॉकेज का कारण बनता है।

सम्बंधित खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button